रसड़ा (बलिया) – सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र का हुआ औचक निरिक्षण

रसड़ा (बलिया). स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र पर बुधवार को  मुख्य चिकित्सक अधिकारी डॉ पी के सिंह ने औचक निरिक्षण किया.  इस दौरान अस्पताल परिसर में अफरा तफरी का माहौल कायम रहा. आधा दर्जन  डॉक्टर एवम संविदा कर्मी हस्ताक्षर कर गायब पाये जाने पर अधीक्षक को एक माह का वेतन रोकने का आदेश दिया. डॉ पी के सिंह ने अस्पताल परिसर में गंदगी पाये जाने पर सफाई कर्मियों पर भड़क उठे. तथा अस्पताल परिसर साफ़ सफाई रखने का निर्देश दिया.

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने एक्सरे रुम, स्टोर रुम सहित उपस्थिति पंजिका का भी निरीक्षिण किया. इस दौरान उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर होने के बावजूद दन्त चिकित्सक डॉ धर्मबीर सिंह तथा संविदा कर्मी अविनाश उपाध्याय, प्रदीप सिंह, विनय दूबे, अरविन्द कुमार, योगेन्द्र कुमार गायब पाये गये. जांच पड़ताड़ में पाया की ये अधिकारी हमेशा ही अनुपस्थित रहते है. इस पर  नाराजगी ब्यक्त करते हुये अधीक्षक डॉ बिरेन्द्र कुमार को एक माह का वेतन रोकने का आदेश दिया. सवाल यह उठता है की इन कर्मचारियो के अनुपस्थित रहने के बावजूद हस्ताक्षर कौन बनाता है, जबकि इन कर्मचारियो हफ़्तों से अनुपस्थित रहने के बावजूद उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर पाया गया. इस मौके पर डॉ अंसारी, डॉ बी पी सिंह, पी सी भारती, अनिल राय, शैलेश सिंह, सोहन यादव आदि लोग उपस्थित रहे. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *