कानपुर भवन दुर्घटना – मलबे से तीन वर्ष की बच्ची सकुशल निकली,

दिग्विजय सिंह 
कानपुर नगर, रूह कपां देने वाले एक हादसे में बुधवार को केडीए कालोनी लालबंगा स्थित सपा नेता महताब आलम की निर्माणाधीन इमारत कि ढहने से हुए हादसे में मरने वालो की संख्या गुरूवार को बढकर आठ हो गयी। घटना में घायल चार अन्य मजदूरों ने दम तोड दिया। इसी बीच बचाव दल ने गुरूवार की सुबह तडके इमारत के मलवे से तीन वर्ष की बच्ची को सकुशल निकाली लिया, जिससे लोगों की खुशी का ठिकाना न रहा और लोग ताली बजाने लगे।
कभी-कभी ऐसे आश्चर्यचकित करने वाले दृश्य सामने आते है जिनपर जल्द यकीन नही हो पाता है। लेकिन जब भी कुछ ऐसा होता है तो लोगो का दूसरी सत्ता पर यकीन और भी बढ जाता है। लाल बंगला क्षेत्र में सपा नेता मेहताब आमल की इमारत ढहने के बाद उस वीभत्स मंजर को देखकर आम जनता ही नही अधिकारियों तक की रूह कांप उठी। राहत कार्य शुरू किया गया। हादसे में पांच लोग मारे गये जबकि कई को अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया जहां इलाज के दौरान अन्य चार मजदूरों की मौत हो गयी। दूसरी तरफ गुरूवार की सुबह बचाव दल ने इमारत के मलवे से तीन वर्ष की बच्ची को सकुशल बाहर निकाला। बच्ची को मामूली खरोचें आई है। उसे कांशीराम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। बच्ची के मलवे से जिंदा बाहर निकलते ही लोगों में खुशी की लहर दौड गयी और बच्ची को जिंदा देख वहां मौजूद लोग तालियां बजाने लगे। बच्ची का नाम सुशील बताया जा रहा है वह छत्तीगढ में रहने वाले सीताराम की केटी है। उसके पिता पूरे परिवार के साथ मजदूरी करने के लिए शहर आये थे।
लाइफ सेंसर से बची बच्ची।
हादसे की सूचना पर बुधवार की शाम लगभग चार बजे कानपुर पहुंची एनडीआरएफ की बटालियन ने राहत कार्य बचाओं कार्य तत्काल ही शुरू कर दिया। देर रात तक रेस्क्यू आपरेशन जारी रहा। इसी बीच एनडीआरएफ की टीम ने कई घायलो को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया तथा उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया गया। टीम ने मलबे में दबे लोगों की सटीक जानकारी के लिए लाइफ सेंसर लगया तो उन्हे कुछ आहट सी हुई। सही दिशा में सावधानी पूर्वक मलवा हटाया गया तो बुरी तरह से घबराई हुई बच्ची सकुशल पाई गयी।

मरने वालो की संख्या हो सकती है ज्यादा।

कानपुर के लालबंगला क्षेत्र में बुधवार को इमारत ढहने की घटना में पांच मदूरों की मौत हो गयी तथा दर्जनों लोग घायल हो गये। वहीं इलाज के दौरान गुरूवार को अन्य चार लोगों की मौत हो गयी। घअना के बाद एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि बिल्डिंग में निर्माण कार्य चल रहा था, इसी दौरान दुर्घटना हुई। वहीं जहां प्रशासन ने पांच लोगों के मरने की पुष्टि की थी तो वहीं प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो मरने वालो की संख्या 20 बताई जा रही है। फिलहाल तेजी से राहत कार्य किया जा रहा है। घटना स्थल के आस पास के क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया गया, यहां तक क्षेत्र के लोगो को आने जाने में परेशानी उठानी पडी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *