कथित भाजपा कार्यकर्ताओ की गुंडई के डर से घर से बहर नही निकल रहे ये प्रधान

आक्रोशित ग्रामीणों ने लगाई डी.एम. से गुहार..

नीलोफर बानो/करिश्मा अग्रवाल

यू.पी. में कमल की जीत का बिगुल बजते ही प्रदेश के भाजपा कार्यकर्ताओं पर ख़ुशी की लहर जरूर दिखी यह ख़ुशी इतनी थी की इस होली पर प्रदेश की हवा में खूब भगवा रंग उड़ा। पर कुछ कथित भाजपा कार्यकर्ताओ के कारण यह रंग  फीका पड़ गया है ये कथित भाजपा कार्यकर्ता अब दबंगई पर उतर आए हैं. इन दबंग कार्यकर्ताओं का खौफ इतना है कि एक ग्राम प्रधान का पति अपने घर से नहीं निकल पा रहा है और खुद के घर में कैद होकर रह गया है। पीड़ित का आरोप हैं कि जब भी वह घर से निकलता है, दबंग उसे मारने-पीटने लगते हैं. पीड़ित ने कई बार इसकी शिकायत थाने पर भी की, लेकिन पीड़ित के आरोपों के अनुसार इन दबंगों के रसूख के चलते उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है. खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे प्रधान के पति ने गुरुवार को जिलाधिकारी से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगाई

मामला अमेठी तहसील के मडेरिका गांव का है। जहाँ की महिला ग्राम प्रधान अंजू देवी के पति रामचंद्र गुप्ता चुनाव के बाद से ही दहशत के साए में हैं. चुनाव उनके लिए अभिशाप साबित हो रहा है. पीड़ित का आरोप हैं कि वह जब भी घर के बाहर कहीं जाने के लिए निकलते हैं तो गांव के ही कुछ युवक उन्हें मारने लगते हैं और प्रधानी से इस्तीफा देने की बात करते हैं।
पीड़ित के अनुसार इसी क्रम में होली की दोपहर रामचंद्र गुप्ता अपनी कार से गांव के बाहर जा रहा तभी पहले से घात लगाकर बैठे गांव के ही तीन युवकों ने कार का शीशा खोल उसकी जमकर पिटाई कर दी और जान से मारने की धमकी देते हुए मौके से फरार हो गए. पिटाई से रामचंद्र को कई जगह गंभीर चोटें आई हैं. पीड़ित का आरोप हैं कि वह आरोपियों की शिकायत के लिए कई बार सम्बंधित थाने भी गया, लेकिन दबंगों के रसूख के चलते उसे थाने से भगा दिया गया कोई रास्ता न दिखने पर  पीड़ित रामचंद्र सैकड़ों ग्रामीणों के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचा और जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर सुरक्षा की मांग की. पीड़ित का आरोप है कि गांव के ही पूर्व प्रधान जो कि भाजपा कार्यकर्ता है की दबंगई के चलते मेरा जीना दुश्वार हो गया है और आये दिन उनके गुर्गे मुझे मारते-पीटते हैं और जान से मारने की धमकी भी देते हैं. मैंने कई बार इसकी शिकायत थाने में भी की, लेकिन मेरी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है.
ऐसा ही एक दूसरा मामला  इसी तहसील के केशवपुर गांव में देखने को मिला जहां के ग्राम प्रधान अजय कुमार सोनी आज सैकड़ों ग्रामीणों के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और अपर जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की. प्रधान का आरोप था कि गांव के ही कुछ दबंग लोग गांव में विकास कार्यों को नहीं होने दे रहे हैं. आये दिन विवाद करते रहते हैं. अभी कुछ दिन पहले भी उन लोगों ने मुझ पर कुल्हाड़ी से हमला किया,  मेरी किस्मत अच्छी थी की मैं बच गया. छोटी-छोटी बातों पर ग्रामीणों को मारना आम बात हो गई है. कई बार हमने और ग्रामीणों ने इसकी शिकायत अमेठी एस.डी.एम. अशोक कनौजिया से की, लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई।

Welcome to the emerging digital Banaras First : Omni Chanel-E Commerce Sale पापा हैं तो होइए जायेगा..

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *