स्कूल से पहले बच्चे का प्रथम गुरु होता है माता पिता-सिस्टर रंजिदा

मोबाईल व बाईक से बच्चे को रखे दूर-ग्रेसी जोन

नवजीवन इंग्लिस स्कूल में एक दिवसीय अभिभावक कार्यशाला सम्पन्न 

उमेश गुप्ता

बिल्थरारोड। स्थानीय नवजीवन इंग्लिस स्कूल में आयोजित एक दिवसीय अभिभावक कार्यशाला में केरला की महिला प्रशिक्षक सिस्टर रंजिदा ने कहा कि किसी बच्चे का प्रथम गुरु माता-पिता होता है। मासूम बच्चे को बोल-चाल की भाषा, दैनिक नित्य क्रिया का ज्ञान, घरेलू संस्कार इत्यादि बच्चे को घर से ही सीखने को मिलता है। बच्चे को जिस प्रकार की सीख मिलेगी उसी के अनुसार वह ढलता चला जायेगा। बच्चा जब कुछ बड़ा हो जाता है तब उसे स्कूल की राह मिलती है, और तब बच्चा स्कूल में पठन-पाठन के अनुसार अपना अगला भविष्य तय करता है।

प्रशिक्षक रंजिदा ने कहा कि अभिभावक की जिम्मेदारी उस समय और बढ़ जाती है जब बच्चा स्कूल की राह पकड़ने जाता है। अभिभावक को सिर्फ स्कूल के भरोसे ही अपने बच्चे को नही छोड़ देना चाहिए। स्कूल में बच्चा केवल 5 से 7 घंटे तक ही रहता है, शेष समय तो वसका समय घर में ही गुजरता है। बच्चों का बचपन सफेद पन्ने की तरह होता है। उसे अच्छी राह दिखाने पर अच्छी राह की तरफ अग्रसर होता है और यदि बुरी राह मिली तो बच्चा गलत संस्कार का शिकार हो जाता है और बाद में सामाजिक स्तर पर अभिभावकों की बदनामी भी हाथ लगती है। इस लिए प्रत्येक अभिभावक को बच्चे के प्रति अपनी जिम्मेदारी तय करनी पड़ेगी तभी बच्चा आगे चलकर डाक्टर, इंजीनियर, अधिकारी बनकर माता-पिता, स्कूल, गुरुजन के साथ-साथ समाज के अन्दर अपना नाम रोशन करेगा।

इस मौके पर अभिभावकों के लिए घरेलू संस्कार से सम्बन्धित एक बीडियो क्लीप भी प्रदशित कर दिखलायी गयी। स्कूल की प्रिंसिपल ग्रेसी जोन ने अभिभावक कार्यशाला में पधारे सभी का आभार प्रकट किया और उन्हें सचेत भी किया किसी हाल में बच्चों को मोबाईल व बाईक से कत्तई दूर रखा जाय, अन्यथा ऐसे बच्चे व अभिभावकों से स्कूल के सम्बन्ध खराब हो सकते हैं। इस कार्यशाला में हजारों की संख्या में अभिभावकों ने भाग लिया था जिसका शुभारम्भ सरस्वती बन्दना से की गयी थी।स्कूल के प्रबन्धक मीनू मैथ्यू ने अभिभावक कार्यशाला को सम्पन्न कराने के लिए जी शान, दीपक, मुकेश, हरेन्द्र, आशुतोष, जया तिवारी, विनीता, अनुराधा आदि को जिम्मेदारी सौंपा था जिसे सभी ने बखूबी निभाया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *