केंद्र और प्रदेश सरकार है जनविरोधी – राजीव राय

विकास राय

गाजीपुर. सपा के राष्ट्रीय सचिव एवम राष्ट्रीय प्रवक्ता.पूर्व लोकसभा प्रत्याशी घोसी राजीव राय ने अपने पैतृक गांव सुरही स्थित आवास पर मीडिया से बातचीत के दौरान केंद्र के साथ प्रदेश सरकार को भी जनविरोधी बताने के साथ साथ लोगो को जाति धर्म के आधार पर बाटने का भी आरोप लगाया। सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय ने कहा कि भाजपा सरकार में आज किसान .मजदूर. ब्यापारी. नौजवान हर कोई परेशान है। इस सरकार में किसानों द्वारा अपना हक मागने पर उनके ऊपर लाठीचार्ज किया जा रहा है।

जीएसटी,नोटबन्दी के द्वारा व्यापारियों,छोटे कारोबारियों को सड़क पर ला दिया गया।छोटे,मझोले उद्योगबन्द हो रहे है।लाखो नौजवान बेकार होकर इस समय दर दर भटक रहे हैं।हर जगह भ्रष्टाचार व्याप्त है।पीड़ित को और प्रताड़ित किया जा रहा है।जाति धर्म के नाम पर लोगो को बाटने का कार्य भाजपा और उसकी सरकारे कर रही है।अल्पसंख्यकों के अंदर भय का माहौल बनाकर भाजपा उनको डरा रही रही है।इस समय देश मे भय और भ्रष्टाचार का माहौल है।

सपा नेता राजीव राय ने कहा कि सपा अपने कर्मयोगी कार्यकर्ताओ के बल पर 2019 के चुनाव में विजय प्राप्त करेगी।पार्टी कार्यकर्ता हमेशा से पार्टी के लिए दिनरात मेहनत कर पार्टी की नीतियों को जनजन तक पहुचने का कार्य करते आ रहे है।प्रदेश की जनता पूरी तरह से परेशान है।महिलाओ पर अत्याचार का ग्राफ बहुत बढ़ गया है।महिलाओं, बालिकाओं के साथ बलात्कार,छेड़ छाड़ की घटनाओं में में बहुत बढ़ोत्तरी हुई है।प्रदेश विकास में तो नही महिलाओ के साथ उत्पीड़न,भ्रष्टाचार में निश्चित रूप से अब्बल हो गया है।गरीब,मजूदर रोजी रोटी के लिये दर दर भटक रहा है।बिजली,की स्थिति बहुत ही खराब है।जनता भाजपा से ऊब चुकी है,वह बदलाव चाही है।जिले में विकास कार्य पूर्ण रूपेण ठप है।सड़के बड़े बड़े गड्डे का रूप ले ली हैं ।

बुनकर रोजी रोटी के लिए परेशान है।वह यह से पलायन कर रहा है।यह सब बाहरी के चुनाव जीतने से हो रहा है।जनता अपनी समस्याओं के समाधान के लिये उनको खोज रही है।परंतु घोसी के सांसद का कहीं अता पता नहीं है।प्रदेश में लाखों गरीबो के पेंशन बन्द है।आवास के नाम पर गांवो में मात्र दो से तीन आवास मिल रहे है।इस मौके पर राकेश कान्त राय.महेश्वर पाण्डेय.विकास राय पत्रकार. डा सूर्य कुमार यादव अध्यक्ष भोजपुरिया शोध संस्थान सिमरी बक्सर समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *