2020 तक भारत को खसरा मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है – डॉ.गुरूचरण

नौशाद असांरी

नहटौर। पोलियो मुक्त भारत की तर्ज पर केन्द्र सरकार ने अब खसरा मुक्त भारत बनाने के लिये महा अभियान शुरु किया है। जिसके तहत 2020 तक भारत को खसरा मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत शुरु हुए इस महा अभियान के तहत खसरा के संक्रमण से बच्चों को बचाने के लिए मिजिल्स-रुबेला का टीका लगाया जा रहा है। फ्री में लगाए जा रहे इस टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिये सम्पूर्ण भारत वर्ष में युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। नहटौर में भी इस अभियान के तहत विभिन्न टीमें सरकार के निर्देशानुसार टीकाकरण के काम में जुटी है।

अभियान के संबंध में प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ.गुरूचरण ने बताया कि डब्ल्यूएचओ के 10 दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र के सदस्य देशों के साथ मिलकर भारत इस कार्यक्रम के माध्यम से 2020 तक खसरा को खत्म करने और रूबेला /जन्मजात रूबेला सिंड्रोम (सीआरएस) को नियंत्रित करने की योजना पर काम कर रहा है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से देशभर में युद्धस्तर पर टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है और इसमें लगभग 41 करोड़ बच्चे को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है। नहटौर क्षेत्र में 92000 बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। अभियान 26 नबम्वर से 17 जनवरी चलेगा। आज बीस बूथों के माध्यम से टीकाकरण का कार्य कराया जा रहा है। जिसमें सात बूथ एचएमआई इण्टर कॉलेज में व बाकि के तेरह अन्य शिक्षक संस्थाओं में लगाये गये हैं। जिनमें हजारों बच्चों का टीकाकरण किया जा रहा है। महा अभियान को सफल बनाने के लिये वे स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे हैं। एचएमआई के कैम्पों को सफल बनाने में प्रधानाचार्य सैय्यद विलाल अहमद जैदी, अलीम अहमद, राम अवतार सिंह, खान कसीम अहमद, जयदेव त्यागी, अफजाल अहमद आदि शिक्षकों का सहयोग रहा। कार्यक्रम की मॉनिटरिंग के दौरान चेयरपर्सन पुत्र इस्तखार अंसारी, डॉ.गुरुचरण, अमित श्रीवास्तव, दानिश अहमद, अरविन्द कुमार, दीपेन्द्र कुमार, पंकज कुमार आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *