6 दिसम्बर को अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास करेगे – साध्वी प्राची

आदिल अहमद/आफताब फारुकी

डेस्क. अयोध्या राम मंदिर मामला सुप्रीम कोर्ट में है, लेकिन उससे पहले मंदिर निर्माण को लेकर समर्थक नेताओं और संतों की बयानबाजी जोरों पर है। बीजेपी नेता और विश्व हिंदू परिषद से ताल्लुक रखने वाली साध्वी प्राची ने मंदिर निर्माण पर अपनी आवाज बुलंद करते हुए कहा कि 6 दिसंबर को ही राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे।

तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित अखिल भारतीय संत समिति के धर्मा देश में साध्वी प्राची ने कहा कि 6 दिसंबर को बाबरी का ढांचा गिराया गया था। अगर 6 दिसंबर तक या उसके पहले राम मंदिर निर्माण की घोषणा नहीं होती तो संत समाज खुद ही राम मंदिर निर्माण की घोषणा कर देगा।

उन्होंने कहा, ‘राम जी का मंदिर बनेगा धूम-धाम से। 6 दिसंबर को ही हमें शिलान्यास करना है। अयोध्या के अंदर हिन्दुस्तान के हिन्दुओं को बुलाओ, राम मंदिर की घोषणा करो। किसी की जरूरत नहीं। राम मंदिर बन जाएगा।’

साध्वी प्राची के अलावा रामजन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष राम विलास वेदांती ने भी बड़ा बयान दिया है। राम विलास वेदांती ने कहा कि दिसंबर में राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। राम विलास वेदांती ने दावा किया कि बिना अध्यादेश के, आपसी सहमति के जरिए ही अयोध्या में राम मंदिर बनेगा और लखनऊ में एक मस्जिद बनाई जाएगी।

सुप्रीम कोर्ट से रास्ता नहीं निकला तो आएगा बिल- रामदे:-वहीं, योगगुरु बाबा रामदेव ने राम मंदिर निर्माण पर कहा कि न्यायालय से निर्णय में देरी हुई तो संसद में इसका बिल आएगा और आना भी चाहिए। राम जन्मभूमि पर राम का मंदिर नहीं बनेगा तो किसका बनेगा। इसीलिए सारे संतों ने और इस भारत भूमि के राम भक्तों ने यह संकल्प व्यक्त किया है कि अब राम मंदिर में अब और देरी नहीं होगी।

बाबा रामदेव ने कहा, ‘मुझे लगता है कि इसी वर्ष कुछ शुभ समाचार मिल सकता है। संसद लोकतंत्र में सर्वोपरि है और संसद चाहेगी तो राममंदिर क्यों नहीं बनेगा।’

यूपी सरकार ने कहा- जरूर बनेगा राम मंदिर:-इससे पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर उत्तर प्रदेश सरकार का एक अहम बयान आया है। राज्य के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि राम मंदिर पर हम कुछ नहीं कर सकते हैं क्योंकि ये मामला अभी अदालत में है। डिप्टी सीएम ने कहा, ‘दबाव या प्रभाव की बात नहीं है…जो मामला कोर्ट में है उस पर हम कुछ नहीं कह सकते हैं…लेकिन अयोध्या में रामलला की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर जरूर बनेगा, कब बनेगा ये तिथि हम नहीं बता सकते हैं…ये हमारे हाथ में नहीं है, ये कोर्ट के हाथ में है।’

केशव प्रसाद मौर्य ने यह भी कहा कि अब रामलला की जन्मभूमि पर कोई बाबर के नाम की इमारत और स्मारक कोई नहीं बना सकेगा। इस मामले में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर भी हमला बोला। डिप्टी सीएम ने कहा कि वे जरूर जानना चाहेंगे कि जनेऊधारी राहुल गांधी और भगवान विष्णु का मंदिर बनाने की घोषणा करने वाले अखिलेश यादव का इस बारे में क्या कहना है वे इसे जरूर जानना चाहेंगे।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अयोध्या में राम लला की विशाल प्रतिमा लगाने से कोई नहीं रोक सकता है। डिप्टी सीएम ने कहा कि अयोध्या का विकास करने से कोई नहीं रोक सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *