कांग्रेसजनों ने मनाया बाबा साहब भीमराव अम्बडेकर का परिनिर्वाण दिवस

ईदुल अमीन

वाराणसी। आज दिनांक 06/12/2018 को वाराणसी कांग्रेसजनों ने विश्व में अपनी एक अलग और अप्रतिम पहचान दिलाने वाले भारतीय गणराज्य के संविधान के निर्माता बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस (पुण्यतिथि) के अवसर पर उन्हें भावभीनि श्रद्धांजलि अर्पित की।

वाराणसी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा एवं पूर्व विधायक अजय राय के नेतृत्व में वाराणसी के ढेलवारिया स्थित हरिजन बस्ती में आयोजित श्रद्धांजलि एवं संगोष्ठी कार्यक्रम में कांग्रेस के अनुसूचित जाति जिलाध्यक्ष राजीव राम (राजू) , शहर महिला अध्यक्ष श्रीमती ऋतु पाण्डेय, राजेन्द्र गांधी ,धीरेंद्र मालवीय, अमित मौर्या (रिंकू) समेत स्थानीय लोगों ने बढ़- चढ़ कर भाग लिया।

आज के आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में पूर्व विधायक अजय राय एवं जिलाध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा ने सर्वप्रथम बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें प्रणाम करते हुए श्रद्धासुमन अपनी भावभीनि श्रद्धांजलि अर्पित किया। इस अवसर पर बोलते हुए पूर्व विधायक अजय राय ने कहा कि बाबा साहेब का जीवन खुद में एक संदेश है। हमे बाबा साहेब के आदर्शों और सिद्धांतों पर चलने की जरूरत है। बाबा साहेब ने पवित्र भारतीय संविधान के माध्यम से हमे एक राष्ट्र और नागरिक धर्म की पहचान दिलाई। वे आजीवन धार्मिक रूढ़ियों, विसंगतियों, कुप्रथाओं से लड़ते रहे। धर्मो के अंदर की विसंगतियों ने ही उन्हें बौद्ध धर्म की ओर उन्मुख किया। उनका स्पष्ट मानना था कि भारत तब तक मजबूत नही हो सकता जब तक वह अपने नागरिक समाज की शैक्षिक, सामाजिक, राजनैतिक असमानता को दूर नही कर लेता। अगर भारत को आगे ले जाना है तो पिछड़े, दलित, शोषित तबके को मजबूत करना होगा। इसीलिए बाबा साहेब ने संविधान में आरक्षण की व्यवस्था दी। पर दुर्भाग्य है कि आज बाबा साहेब के बनाये संविधान और संवैधानिक आदर्शों व संस्थाओं को वर्तमान सरकार नष्ट करने का प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहाकि हम सजग और सतर्क होकर ही न सिर्फ अपने अधिकारों की रक्षा कर सकते हैं बल्कि सत्ता की हर साजिशों का एक सार्थक और मुकम्मल जवाब भी दे सकते हैं। इस अवसर पर बोलते हुए वाराणसी कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा ने कहा कि बाबा साहेब की सोच और उनकी नीतियां समाज के हर वर्ग और हर धर्म के लिए हितकारी हैं। आज बाबा साहेब नही हैं पर उनकी सबसे अनमोल कृति “संविधान” हमे उनके होने का भरपूर अहसास दिलाती है।  उनका बनाया संविधान भारत और भारतीयता की पूरी पहचान दिलाती है। आगे हम संविधान के बताए रास्ते पर चलते हैं, तो यह बाबा साहेब के बताए रास्ते पर ही चलना माना जायेगा। आज देश की सभी संवैधानिक संस्थाएं घायल होती जा रही हैं जो कि हमारे मजबूत लोकतंत्र के लिए एक बड़े खतरे की निशानी है। अगर हम अपने और देश के हितों की रक्षा करनी है तो इसके लिए हमे सतत सजग रहना होगा। इसी रास्ते हम बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के विचारों और आदर्शों को सहेज सकते हैं। इस अवसर पर अनुसूचित जाति जिलाध्यक्ष राजीव राम, शहर महिला अध्यक्षा श्रीमती ऋतु पाण्डेय, राजेन्द्र गांधी, धीरेंद्र मालवीय ने भी अपने विचारों को रखते हुए बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित किया।

आज के इस कार्यक्रम में जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रजानाथ शर्मा, पूर्व विधायक अजय राय , अनुसूचित जाति जिला अध्यक्ष राजीव राम, शहर महिला अध्यक्षा श्रीमती ऋतु पाण्डेय, राजेन्द्र गांधी, धीरेंद्र मालवीय, अमित मौर्या, अनिल कुमार , राधेजी, चक्रवर्ती पटेल, डॉ. मौर्या, ओम प्रकाश समेत बडी संख्या में लोग उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *