प्रधानाचार्य व कथित पत्नी दोहरा हत्याकाण्डः पोस्टमार्टम के बाद केस में नया मोड, तो फिर किसने मारा दोनों को ?

आफताब फारुकी

प्रयागराज। अभी तक चर्चा थी कि पहले प्रधानाचार्य ने कथित पत्नी को गोली मारी उसके बाद आत्महत्या कर ली लेकिन शनिवार को दोनों के शवों के पोस्टमार्टम होने के बाद एक नया रहस्य सामने आया जो चैकाने वाला था।

बताया जाता है कि महिला के सिर के ऊपर बीचो – बीच गोली मारी गयी और ठीक उसी जगह पर किसी भारी चीज से वार भी किया गया। जिससे उसके सिर की कई हड्डियां टूट गयीं। पोस्टमार्टम में एक गोली उसके सिर में पायी गयी। ठीक इसी तरह प्रधानचार्य बाये सीने में गोली मारी गयी थी जो पार हो गयी। वहीं चिकित्सकों का अनुमान है कि यदि कोई व्यक्ति आत्महत्या करता है और अपने दाहिने हाथ से बायें सीने में गोली मारता है तो गोली सीधे न जाकर इधर – उधर भागेगी। प्रधानाचार्य के माथे पर भी किसी भारी चीज से वार किया गया था। जिससे उसकी भी कई हड्डियां टूटी पायी गयी। फिलहाल दोनों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट हत्या की ओर इंगित कर रहीं है। बहरहाल यह पुलिस जांच का विषय है।

बता दें कि जनपद कौशाम्बी के सराय अकिल थाना क्षेत्र के कनैली गांव निवासी प्रमोद कुमार चैधरी 56 पुत्र स्वर्गीय राम आसरे कौशाम्बी के चालय स्थित लाल बहादुर शास्त्री इंटर कालेज में प्रधानाचार्य थे। प्रमोद अपने दो बेटे विक्रम और विराट एवं एक बेटी एवं कथित पत्नी के साथ धूमनगंज के ईडब्लूएस कालोनी प्रीतम नगर में अपना निजी घर बना कर विगत कई वर्ष रहे रह रहे थे। उन्होंने अपनी बेटी की शादी भी तय कर दिया है।

बताया जा रहा है कि उसकी पत्नी की लगभग तीन वर्ष पूर्व ह्दयगति रूकने से मौत हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने एक महिला को लेकर घर में रखा था जो कहीं चली गई। इसके बाद राखी यादव 40 को विगत कई माह से रखा हुआ था। वह राखी के साथ नीचे कमरे में रहता थे। सभी बच्चे दूसरी मंजिल पर रहते है। शुक्रवार दोपहर उसके घर में अचानक गोली की आवाज हुई तो उसके बच्चे नीचे पहुंचे और देखा कि राखी और प्रमोद खून से लतपत पड़े है। बच्चों ने शोर मचाया तो आस – पास के लोग पहुंचे और पुलिस एवं 108 एम्बूलेंस को सूचना दी।

सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को उपचार के लिए स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय लाया गया। जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस को मौके से एक असलहा भी मिला है। राखी के सिर में गोली लगी और प्रमोद के बाये सीने में गोली लगी तथा उसके सिर में भी चोंट के निशान दिखाई दे रहा था। वारदात के सम्बन्ध में प्रमोद के बच्चे अभी कुछ साफ नहीं बता पा रहें है। पुलिस को मौके से राखी का आधार कार्ड मिला है। जिसमें राखी चैधरी पत्नी प्रमोद कुमार चैधरी लिखा हुआ है। इससे यह लग रहा है कि दोनों पति – पत्नी के रूप में रह रहे थे।

शनिवार को राखी के परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। राखी के भाई तुफान सिंह पुत्र रमेश बाबू यादव निवासी बनकुतरा सिराथू थाना सैनी जनपद कौशाम्बी ने बाताया कि मृतका पांच बहन में छोटी और दो भाई है। उसकी मौत से मां मिथलेश यादव का रो – रोकर बुरा हाल है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से इस केस में एक नया मोड़ आ गया है। अब देखना है कि पुलिस इस मामले को किस तरह ब्लाइड मार्डर को साल्ब करती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *