ख़ाशुक़जी की हत्या के अभियुक्तों पर न्यायपूर्ण मुक़द्दमा चलाने के सऊदी अरब के दावे को पोल खुली

आफताब फारुकी

सऊदी अरब के सरकार विरोधी पत्रकार की हत्या के आरोपियों के ख़िलाफ़ न्यायपूर्ण ढंग से मुक़द्दमा चलाने के दावे की पोल सोशल मीडिया के माध्यम से खुल गई है।

सोशल मीडिया कर्मियों ने जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या के आरोपी और सऊदी अरब के पूर्व ख़ुफ़िया चीफ़ अहमद अलअसीरी की एक तस्वीर पोस्ट करके कहा है कि यह चित्र सऊदी शासकों के झूठ की पोल खोल देता है। तस्वीर में अहमद अलअसीरी पारंपरिक वस्त्र में अपने भतीजे उमर असीरी के साथ घर के अंदर दिखाई दे रहे हैं। उमर ने कैडिट काॅलेज में पास होने के अवसर पर फ़ौजी वर्दी पहन रखी है। इस चित्र के कारण सोशल मीडिया पर काफ़ी वाद-विवाद हो रहा है। विशेष कर इस लिए कि सऊदी अधिकारियों ने बारम्बार दावा किया है कि जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या में लिप्त सभी आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है।

डेली मेल के अनुसार सऊदी अरब के अटाॅर्नी जनरल ने बताया है कि अहमद असीरी ने ख़ाशुक़जी की हत्या के मामले का संचालन किया था और शाही न्यायालय के प्रेस प्रभारी सऊद क़हतानी ने उन्हें परामर्श दिया था। ये दोनों ही आरोपी सऊदी अरब के युवराज मुहम्मद बिन सलमान के निकटवर्ती माने जाते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *