आग उगलता सूरज, बेचैन हुई ज़िन्दगी, गर्मी से ट्रेन में चार मुसाफिरों की मौत का सबब बनी गर्मी

तारिक खान

नई दिल्ली/ केरला एक्सप्रेस में सवार होकर आगरा से कोयंबटूर जा रहे एक महिला समेत चार मुसाफिरों की ट्रेन में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि तीन यात्रियों की गर्मी के कारण चलती ट्रेन में मौत हो गई थी, जबकि एक यात्री की इलाज के दौरान मौत हुई है। ट्रेन के कोच एस-8 व एस-9 में सवार 68 लोगों के ग्रुप के साथ वाराणसी और आगरा में घूमने के बाद वापस अपने घर लौट रहे थे, झांसी जीआरपी पुलिस ने सभी शवों को ट्रेन से उतार कर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। पोस्टमार्टम के बाद सभी के शवों को केरला एक्सप्रेस के लगेजवान में ताबूत में रखकर कोयंबूटर भेजा जायेगा।

दरअसल दस दिन पहले तमिलनाडु के कोयंबटूर से 68 लोगों का ग्रुप वाराणसी और आगरा घूमने के लिये निकला था। इनमें से अधिकांश लोगों की उम्र 70 से 80 साल के बीच की है। केरला एक्सप्रेस में सवार होकर आगरा से कोयंबटूर लौटकर वापस अपने घर जा रहे थे। इस बीच रास्ते में कुछ यात्री बेहोश गए। तत्काल इस बात की सूचना झाँसी कंट्रोल रूम को दी गई। झांसी रेलवे स्टेशन पर डाक्टरों की टीम इन यात्रियों को अटेंड करने पहुंची। चेकप करने पर पता चला कि तीन यात्रियों कोल्लीमलाई, बालकृष्णन और धीवानाई की मौत हो चुकी है। चौथे गंभीर यात्री सुबरैया को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस और रेलवे अफसरों को बताया कि बेहद गर्मी के कारण सफर के दौरान सभी की तबियत अचानक खराब हुई थी और बाद में यह घटना हो गई।

घटना के बाद हड़कंप मच गए। सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। रेलवे ने मृतकों के साथ मौजूद लोगों के ठहरने की व्यवस्था रेलवे गेस्ट हाउस में की और मृतकों के परिजनों को सूचना दी। परिजनों के आने के बाद सभी शव उनके परिजनों को सौपे जायेंगे। रेलवे के अफसरों को मृतकों की सहायता के लिए लगाया गया है। रेल कर्मियों की मदद से मृतकों के शवों को भेजने की व्यवस्था की जा रही है। मौत के कारणों पर फिलहाल रेलवे के अफसर खुलकर कुछ बोलने से बच रहे हैं और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद कारण साफ होने की बात कह रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *