स्कूल वैन हादसा : तो क्या शिक्षा विभाग के जिम्मेदार बच निकलेंग ?

प्रदीप दुबे विक्की

भदोही। जिले के ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के लखनो गांव में अमान्य विद्यालय में चलने वाली एक स्कूली वैन आग का गोला बन गई थी। इस हादसे में जहां तीन मासूम बच्चों की मौत हो गई थी। वहीं आधा दर्जन से अधिक बच्चे झुलस गये थे। दिल दहला देने वाला यह हादसा याद कर आज भी लोगो के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। जिस स्कूल में यह वैन चल रही थी। वह स्कूल कोचिंग सेंटर के आड़ में फर्जी तरीके से संचालित किया जा रहा था। फर्जी तरीके से चल रहे स्कूल का खुलासा हादसे के बाद हुआ। वरना शिक्षा विभाग के रहमो करम पर तो यह विद्यालय संचालित ही हो रहा था।

जब विद्यालय अमान्य था तो भला इसके वाहनो का आंकड़ा कैसे किसी के पास होता। लेकिन इसके बावजूद भी परिवहन विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एआरटीओ सत्येन्द्र यादव को निलम्बित कर दिया। एआरटीओ के निलम्बन के बाद यह समझा जा रहा था कि अब दूसरी बड़ी कार्रवाई शिक्षा विभाग के जिम्मेदार बेसिक शिक्षा अधिकारी पर हो सकती है। लेकिन एआरटीओ पर कार्रवाई हुए लगभग दो सप्ताह से अधिक का समय बीत चुका है। लेकिन इस हादसे में पूरी तरह जो विभाग जिम्मेदार था उसके ऊपर अभी तक कार्रवाई न किये जाने से सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। लोगो के बीच यह चर्चा है कि कहीं न कहीं शिक्षा विभाग के जिम्मेदार को बचाने की कोशिश तो नहीं की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *