जिलाधिकारी के अध्यक्षता में हुई गौवंश संरक्षण की बैठक

संजय ठाकुर

मऊ :जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में गोवंश संरक्षण की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। समस्त खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि पशुओं के लिए पर्याप्त मात्रा में भूसा क्रय कर लें सभी विकास खण्डों के लिए धनराशि का आवंटन कर दिया गया है।

इसके साथ ही साथ जनपद में दानदाताओं से भी अपील कर चारा स्टोर कर लें। जिलाधिकारी द्वारा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये गये कि विभागीय पत्र शासन को भेज दे कि जनपद में गौवंश के देख रेख के लिए सारी प्रक्रिया की जा रही है। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों से कहा कि यदि आप इसमें अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित कर लें तो निश्चित रूप से सारी व्यवस्थाओं को पूर्ण किया जा सकता है। जनपद में लगभग 6000 हजार पशुओं को गौशालाओं में रखा गया है।

जिलाधिकारी ने पशुओं की संख्या और बढ़ाने के निर्देश सभी खण्ड विकास अधिकारी को दी गयी, तथा गौशाला के अन्दर या आस पास वृक्षारोपड़ अवश्य कराये जिसमें पिपल, पाकड़, बरगद, आम के पौधे लगाये जिससे पशुओं के छाया के साथ साथ जल संरक्षण का भी बना रहेगा। जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को सन्कल्पित किया गया कि पशुओं की देख भाल करना हमारी सम्पूर्ण जिम्मेदारी है। उप जिलाधिकारी मुहम्मदाबाद गोहना अतुल वत्स द्वारा बताया गया कि गौशालाओं में पशुओं की संख्या बढ़ाने से हमार संकल्प पूरा नही होगा, हम सबका संकल्प तब पूरा होगा जब गौशाला में रखे गये पशुओं की उचित देख भाल करा सके। जिलाधिकारी ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि गौशाला के आस पास चारागाह की भूमि को चिन्हित कर कृषि विभाग के माध्यम से पशुओं के लिए चारा की उपज कराये। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें न होने दें क्योकि इसकी समीक्षा मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं की जा रही है और यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री के प्राथमिकताओं में से एक है।

उक्त अवसर पर अपर जिलाधिकारी डी0पी0पाल, उप जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी डा0 अंकुर लाठर, जिला विकास अधिकारी विजय शंकर राय, जिला कृषि अधिकारी उमेश कुमार, समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारी सहित गौवंश समिति के सदस्य उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *