कहां गई इंसानियत, कश्मीरियत और जम्हूरियत ? – महबूबा मुफ़्ती

निसार शाहीन शाह

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर को लेकर चल रहे कई कयासों के बीच पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सर्वदलीय बैटक बुलाई है। पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि हमें कोई नहीं बता रहा है कि क्या होने वाला है? ऐसे में जम्मू-कश्मीर की सियासी पार्टियों और आवाम को साथ मिलकर हालात का मुक़ाबला करना है। साथ ही उन्होंने बताया कि चूंकि किसी होटल में हमें बैठक की इजाज़त नहीं मिल रही है, इसलिए आज शाम हम घर पर ही सर्वदलीय बैठक करेंगे। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि साथ मिलकर आफत का मुकाबला करें।

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यात्रियों, पर्यटकों, कामगारों, छात्रों और क्रिकेटरों को कश्मीर से जाने को कहा गया है। कश्मीरियों को राहत देने की कोशिश नहीं की जा रही है। कहां गई इंसानियत, कश्मीरियत और जम्हूरियत?

उधर, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर राज्य के हालात को सामान्य बताया है। उन्होंने कहा है कि अफ़वाहें फैलाई जा रही हैं, जिसपर ध्यान देने की ज़रूरत नहीं है। जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने शनिवार को राज्य के विशेष दर्जे के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है। उनकी यह टिप्पणी उमर अब्दुल्ला के साथ हुई मुलाकात के कुछ घंटों के बाद आई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *