किशोरियों कों खिलाई गई आयरन की गोलियां

संजय ठाकुर

मऊ- शासन के निर्देश पर इस बार पोषण के मुद्दे पर समाज में जागरूकता लाने के लिए समुदाय आधारित गतिविधियों का आंगनबाड़ी केंद्र स्तर पर पोषण माह का आयोजन किया जारहा है जिसके तहत जिले के 2,587 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर किशोरी दिवस का आयोजन किया गया।

इस क्रम में सोमवार  को जनपद के परदहा ब्लॉक अंतर्गत सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर किशोरी दिवस मनाया गया, जिसमें मुख्य सेविका और आशा कार्यकर्ताओं ने गांव की किशोरियों को बुलाकर उनका वजन नाप आदि लिया और उन्हें खानपान में पोषण युक्त आहार तथा माहवारी स्वच्छता आदि की जानकारी दी।

मुख्य सेविका गीता तिवारी ने बताया कि परदहा ब्लाक के विभिन्न आँगनवाड़ी केन्द्रों रैनी, बनोरा, बैजापुर, काशिमपुर, बरलाई, बारहसिंघा के क्षेत्र की आंगनबाड़ी और पोषण सखी मंजू यादव, वंदना पाण्डेय, संध्या पाण्डेय, मालती, बिंदु आदि ने गावों की किशोरियों को केंद्र तक लाई और उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया आयरन की गोली खिलाई गई।

रैनी गाव कि किशोरी सरिता ने बताया कि जब से “हम” इन कार्यक्रमों में आने लगे हैं यह तो जानकारी मिल गई कि हमें अपना ध्यान कैसे रखना है स्वास्थ्य और स्वक्षता की जानकारी भी पूरी तरह से मिल जाती है अगर भूल जाते हैं तो फिर अगले माह में दुहरा दिया जाता है।

डीपीओ दुर्गेश कुमार ने बताया कि किशोरी दिवस पर बाल विकास और पुष्टाहार विभाग द्वारा जो प्रमुख गतिविधियां तय की गयी हैं। उसी के आधार पर हर किशोरी का हेल्थ कार्ड जारी करना, 11 से 14 वर्ष की सभी किशोरियों की ऊंचाई व वजन की माप करना और खून की जांच शामिल हैं। इस कार्य में आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और एएनएम की पूरी मदद ली जाती है। किशोरियों को उनके हीमोग्लोबिन के स्तर को बताने के साथ ही उसे उनके कार्ड में भी दर्ज किया जाता है।

इस मौके पर गर्भवतियों को गर्भावस्था के दौरान लेने वाले पोषाहार का सही ढंग से इस्तेमाल करने के बारे में जानकारी दी गई। इस दिवस पर खून की जांच रिपोर्ट के आधार पर किशोरियों को एनीमिया से बचने के लिए आयरन की गोलियों के सेवन और खान-पान संबंधी विस्तृत जानकारी भी दी गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *