मऊ-जिला महिला अस्पताल में प्रत्येक शुक्रवार को लगेगा ‘महिला नसबंदी’ शिविर

संजय ठाकुर

मऊ – जिला महिला अस्पताल में प्रत्येक शुक्रवार को महिला नसबंदी शिविर लगाया जाएगा जिसमें महिलाओं को नसबंदी की सुविधा प्रदान की जाएगी। समस्त सरकारी अस्पतालों में महिलाओं की नसबंदी की समुचित व्यवस्था की गयी है। नसबंदी करवाने वाली महिला को प्रोत्साहन राशि के रूप में 1400 रुपए सीधे उनके बैंक खाते में पहुंचाए जाएंगे। यह जानकारी मुख्य चिकित्साधीक्षक डॉ आरके गुप्ता ने बैठक के दौरान दी।

जिला महिला अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ अल्का राय ने बताया जनसंख्या स्थिर करने के लिए नसबंदी को एक बेहतर उपाय माना जाता है। इस प्रक्रिया में महिलाओं में गर्भधारण को रोकने के लिए फैलोपियन ट्यूब को ब्लॉक कर दिया जाता है। इस प्रकिया को नसबंदी (स्टेरिलाइजेशन) कहते हैं। नसबंदी एक स्थायी प्रक्रिया है जिससे भविष्य में गर्भधारण नहीं होता है। ऐसी महिलाएं जो एक या दो बच्चे पैदा कर चुकी हैं या बच्चा पैदा नहीं करना चाहती हैं तो वह नसबंदी करा सकती हैं। नसबंदी कराने के बाद महिलाओं को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है। नसबंदी के कारण न ही उनके यौन इच्छा में कमी आती है, न ही उत्तेजना में कमी आती है और न ही महिलाओं के शरीर में हार्मोन के स्तर में गिरावट आती है। यही कारण है कि नसबंदी को सुरक्षित और फायदेमंद माना जाता है।

इस मौके पर परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं एसीएमओ डॉ पीके राय, डीसीपीएम संतोष सिंह,जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ आनंद पाण्डेय आदि लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *