प्रतापगढ़ के सजायाफ्ता कैदी की नैनी के केन्द्रीय कारावास मौत

तारिक खान

प्रयागराज। केन्द्रीय कारागार नैनी में आजीवन सजा काट रहे एक बन्दी की अचानक तबियत खराब होने से गुरूवार को स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में मौत हो गई। उसकी मौत की सूचना परिजनों को दे दी है।
प्रतापगढ़ जिले के कुण्डा थाना क्षेत्र में स्थित बरना बाहर पुरवा गांव निवासी लालबाबू 42 वर्ष पुत्र मिठाई लाल सजायाफ्ता कैदी था। उसकी पत्नी रेखा एक पुत्र और एक पुत्री के साथ गांव में रह कर किसी तरह खेती करके जीवन यापन करती है। उसे इलाहाबाद जनपद न्यायालय के अपर सत्र न्यायाधीश ने एक जुलाई 2015 को हत्या के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। जिसके बाद से लालबाबू केन्द्रीय कारागार नैनी में सजा काट रहा था।
गुरूवार की सुबह अचानक लालबाबू की जेल में तबित खराब हुई तो उपचार के लिए पहले बन्दी रक्षक जेल के अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे चिकित्सकों की सलाह पर बन्दी रक्षकों ने स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां उसकी उपचार के दौरान गुरूवार को मौत हो गई। शव को चिकित्सकों ने अन्त्य परीक्षण के लिए भेज दिया और उसकी मृत्यु की सूचना पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस ने विधिक कार्रवाई की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *