जॉर्डन में जनता का विरोध प्रदर्शन लाया रंग, संसद में इस्राईल को गैस निर्यात पर रोक लगाने वाला प्रस्ताव बहुमत से हुआ पारित

आफताब फारुकी

जॉर्डन की संसद में इस्राईल को गैस निर्यात पर रोक लगाने वाला प्रस्ताव बहुमत से पारित हो गया। इरना के मुताबिक़, जॉर्डन की संसद ने ज़ायोनी शासन को गैस के निर्यात पर रोक लगाने के लिए क़ानूनी समिति के प्रस्ताव को पारित कर अब सरकार के हवाले कर दिया है कि वह इसे क़ानूनी रूप दे।

पिछले साल दिसंबर में जॉर्डन में दसियों सांसदों ने पहली बार इस्राईल को गैस का निर्यात रोकने का प्रस्ताव संसद में पेश किया था। जॉर्डन की राष्ट्रीय गैस कंपनी ने 2016 में अमरीका की ऊर्जा कंपनी “नोबल एनर्जी” के साथ 15 साल का क़रार किया था जिसके तहत ‘लवीतान’ गैस के मैदान से इस्राईल को गैस की आपूर्ति करना थी। जॉर्डन की जनता ने इस समझौते के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया था और सरकार के हटने की मांग की थी।

इस्राईल के साथ गैस समझौते को रद्द करने की मांग में पिछले शुक्रवार को जॉर्डन में नागरिक सोसाइटी और राजनैतिक दलों की अपील पर एक रैली आयोजित हुयी थी, जिसमें बड़ी संख्या लोगों ने भाग लेकर उमर रज़्ज़ाज़ सरकार से सत्ता से हटने की मांग की थी। इस रैली में शामिल लोगों ने “ग़द्दारी भरा समझौता रद्द करो” जैसे नारे लगाए था ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *