कर्नाटक – अवैध खनन एवं वन अपराधों के 15 मामलों के आरोपी को बनाया गया मंत्री

आदिल अहमद

कर्नाटक की भाजपा सरकार ने अवैध खनन और वन अपराधों के 15 मामले के आरोपी विधायक को वन, पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी मंत्री बना दिया। बीएस येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने लौह अयस्क समृद्ध बेल्लारी ज़िले से चार बार के विधायक आनंद सिंह को यह पद दिया है। आनंद सिंह पर 2012 से अवैध खनन और वन अपराधों के 15 मामले दर्ज हैं। 53 वर्षीय सिंह को सोमवार को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बनाया गया था लेकिन एक दिन बाद ही पोर्टफोलियों में बदलाव की मांग के बाद उन्हें वन, पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी मंत्री बना दिया गया।

उन्हें यह मंत्रालय साल 2008-13 की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में उनके ख़िलाफ़ दर्ज किए अवैध खनन और वन अपराधों के लंबित मामलों के बावजूद दिया गया। भाजपा सूत्रों के अनुसार, विजय नगर के विधायक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग मिलने से नाखुश थे, वे ऊर्जा मंत्रालय की मांग कर रहे थे लेकिन समझौते के तहत उन्हें पर्यावरण मंत्रालय सौंपा गया। येदियुरप्पा ने छह फरवरी को उन ग्यारह में से 10 विधायकों को मंत्री बनाकर अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया था जो दिसम्बर में विधानसभा उपचुनाव जीते थे।


जुलाई 2019 में येदियुरप्पा सरकार बनवाने में मदद करने के कारण सिंह को 14 अन्य विधायकों के साथ अयोग्य घोषित कर दिया गया था। अयोग्यता को सही ठहराने और दोबारा चुनाव लड़ने की इजाजत देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दिसंबर 2019 में वे बेल्लारी के विजय नगर से भाजपा के टिकट पर दोबारा चुनाव जीते थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *