कानपुर – लॉकडाउन लागू होने के चलते आसमान छू रहे है सब्जियों के भाव और सरकार के आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जिया

मोहम्मद कुमैल

कानपुर. जहाँ एक तरफ हमारे भारत देश के माननीय  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी देश की जानता से हाँथ जोड़ कर अपील किया है की आज से पूरे 21 दिन तक पूरे भारत के सभी राज्यों को लॉकडाउन किया जा रहा है क्यूंकि कोरोना महामारी से देश की हर एक जानता की जान बचानी है यदि अभी आप सभी लोग सचेत नहीं हुए तो अत्यंत विकट स्थिति उत्पन्न हो सकती है।

पीएम मोदी जी ने सख्त कदम उठाते हुए कहा की आज से और अभी से मैंने भारत के हर एक परिवार के घर पर एक लक्छमन रेखा खींचता हूँ कोई भी अपने घर से बाहर बिलकुल भी नहीं निकलेगा आपको और आपके पूरे परिवार को सारी खाद्य सामग्री घर घर तक पहुंचाई जाएगी कोई भी व्यक्ति परेशान न हो सावधानी और धैर्य रखें खाने पीने से लेकर दूध सब्जियो की व  अन्य जरूरत की सामग्री आपको होम डिलेवरी के माध्यम से आप तक पहुँचाया जाएगा उसके लिए पूरी व्यवस्था कर लिया गया है जल्द ही आप सबको हेल्पलाइन नम्बर भी जारी कर दिया जायेगा हमारा जानता से विनम्र निवेदन है की वो घर से बिलकुल न निकले सख़्ती से सारी जनता को आदेशों का पालन करना होगा एवं प्रशासन को भी कड़ाई से पालन करना होगा कोई भी लापरवाही बिलकुल भी नहीं सही जाएगी सरकार के आदेशो के अनुसार सुबह 4 से 11 के बीच में सब्जी राशन दूध आदि खाद सामग्री लेने को जा सकता है लेकिन वो भी सावधानी को ध्यान में रखते हुए मुँह में मास्क को लगा कर ही निकले।

लोगों में नहीं है प्रशासन का खौफ आदेशो का उलंघन करते हुए निकल रहे घरों से लोग

25 अप्रैल को सुबह करीब 8 बजे बाजारों में काफी मात्रा में जबर्दस्त देखी गई भीड़ व आज फूल की दुकान राशन की दुकानो व सब्जियों की दुकानों में लगा रहा है लोगो का जमघट और तो और सबसे बड़ी बता तो यह है की यदि कुछ समय के लिए छूट दिया गया है जनता को जरूरत की वस्तुये लेने को तो इसका मतलब यह नहीं है की जनता एक दुसरे के सम्पर्क में आने लगे और बिना मास्क लगाए ही घरों से निकलने लगे कोरोना वायरस एक दुसरे के सम्पर्क में आने से फैलता है इसके बावजूद भी जनता इस वायरस को बहुत हलके में ले रही है।

आज सुबह करीब 8 बजे जब मैं घर से निकला जो जगह-2 बिक रही सब्जियों का भाव पता करने गया तो सोचा की आखिर सच क्या है इसका पता लगाया जाये।आखिरकार क्या सच है और क्या फसाना है आखिर जानता क्यों कह रही है की आलू 40 से 50 रूपये किलो मिल रहा है और टमाटर 35 से 40 रूपये किलो है। तो जब मैंने अपना कैमरा चालू किया तो हकीकत कुछ और ही सामने आई मेरे कैमरे के सामने किसी भी सब्जी वाले ने सही रेंट नहीं बताना चाहा क्यूंकि सब के भाव अलग अलग निकले इन सब्जी वालों की मानसिकता इतनी ख़राब हो चुकी है की कैमरे को देखते ही झूठ पे झूठ बोलते दिखाइ दिए इन सब्जी वालो के सामने जब जानता कुछ लेने जाती है तो उनसे मन माफिक पैसे लिए जाते है और जैसे ही किसी पत्रकार को देखा नहीं की अपने आप भाव को गिरा देते है  मैं करीब 2 घण्टे से ज़्यादा मार्केट में रहा जनता की हर एक हरकत को अपने कैमरे में कैद किया एवं उनकी समस्याओ को भी मैंने सुना,जिस वक्त जनता घरों का सामान लेने को निकलती है ताकी कोई भी एक दुसरे के संपर्क में न आ सके एक दुसरे से दूरियाँ बना कर व मास्क लगा कर घर से निकले ताकि इस भयावय कोरोना महामारी से हिंदुस्तान के हर एक व्यक्ति की जान को बचाया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *