मुफ्ती साजिद ने मुल्क व कौम की तरक्की के लिए कराई दुआ

गौरव जैन

रामपुर। रमजान उल मुबारक के मुकद्दस महीने का दुसरा अशरा चल रहा है। घरों में तराबीह की नमाज में कुरआन मुकम्मल होने पर हाफिजों को तोहफें देकर हौसला अफजाई की जा रही है। माहे रमजान का दुसरा अशरा आ चुका है। लोग रात-दिन की इबादतों के जरिए नेकियों में मशगूल हैं।घेर सलावत खान मे हुए कुरआन ए पाक मुकम्मल मे क़ुरआन सुनाने वाले हाफिज़ सय्यद याहया मियां को फूल माला पहनाकर खैरमकदम किया। इस दौरान मुल्क व कौम की तरक्की के लिए दुआ की गई।

कुरआन सुनाने वाले हाफिज की गुलपोशी कर तोहफे व नजराने दिए गए। आखिर में मुल्क व कौ म की कामयाबी और अमनो अमान की दुआएं मांगी गईं।रमजान-उल-मुबारक के मुकददस महीने में तरावीह की नमाज में कुरआन सुनाने का सिलसिला जारी है। जिसमें मुफ्ती साजिद ने दुआ कराई कहा कि अगर अपना खोया हुआ वकार हासिल करना चाहते हो तो दीनी व दुनियावी दोनों तालीम हासिल करो। आज लोगों को गलत फहमी है कि उल्मा सिर्फ दीनी तालीम की बात करते हैं। बल्कि सच यह है कि उल्मा हर इल्म के ऊपर जोर देते हैं। अमनो अमान और भाईचारे की दुआ की गई। इस मौके पर मामून शाह खान, सय्यद शाहाब मियां, सय्यद फैसल हसन,नोमान खान, शेज़ी सैफी, आमिर कुरैशी आदि मौजूद रहे।



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *