प्रयागराज – ज़मीनी विवाद में तीन सगे भाइयो की हुई हत्या, घटना का वीडियो हुआ सोशल मीडिया पर वायरल, दो महिलाये भी गंभीर रूप से हुई घायल, स्थिति चिंताजनक

तारिक खान

प्रयागराज। चार बिगहा ज़मीन ने तीन लोगो की ज़िन्दगी को लील लिया वही दो अन्य महिलाये भी गंभीर अवस्था में है। दोनों की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। प्रयागराज के यमुनापार स्थित कोरांव थाना क्षेत्र के निश्चिंतपुर गांव में जमकर खून बहा। तीन सगे भाइयो की मौत हो गई है। इस खुनी खेल की शुरुआत आज बुधवार दोपहर में हुई जब 4 बीघा जमीन के विवाद में तीन सगे भाइयों की लाठी-डंडे और पत्थरों से पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। हमलावर पट्टीदारों ने दो महिलाओं को भी पीट कर मरणासन्न कर दिया है। उन्हें प्रयागराज के एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना के सम्बन्ध में प्राप्त समाचारों के अनुसार कोरांव के निश्चिंतपुर गांव में बरमदीन यादव और शिवनारायण यादव के परिवारों के बीच वर्षों से 4 बीघा जमीन का विवाद चला आ रहा है। बुधवार बरमदीन के बेटे इंद्र बहादुर यादव, राम सिंह यादव और रवींद्र यादव ट्रैक्टर लेकर खेत में जुताई के लिए गए थे। परिवार की ही सुनीता और उसकी बेटी रागिनी भी खेत में थीं। उसी समय 10-12 की संख्या में आरोपियों ने लाठी-डंडे और ईंट पत्थरों से हमला कर दिया। तीनों भाइयों को लाठी-डंडे और पत्थरों से जमकर पीटा गया। जब तक गांव वाले पहुंचते, हमलावरों ने इंद्र बहादुर को मार डाला था। राम सिंह, रवींद्र, रागिनी और सुनीता मरणासन्न हालत में पड़े हुए थे। पुलिस को सूचना देकर परिवार वाले सभी को अस्पताल लेकर भागे, लेकिन राम सिंह और रवीन्द्र की रास्ते में मौत हो गई। रागिनी और सुनीता को एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है। वारदात की सूचना पाकर एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज अधीनस्थ अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे।

एसएसपी के मुताबिक दोनों परिवारों में जमीन को लेकर वर्षों से विवाद था। इस विवाद में हमलावर पक्ष के एक व्यक्ति की 2014 में हत्या हो चुकी है। इसी दुश्मनी में बुधवार को भी दोनों पक्षों में विवाद हुआ। पुलिस ने मामले में शिव नारायण पक्ष के 10 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें चार महिलाएं भी हैं। शेष आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

इसी दौरान सोशल मीडिया पर इन तीन हत्याओं का वीडियो भी वायरल हुआ है। इसमें हमलावर तीनों को तब तक पीटते दिख रहे हैं, जब तक कि उनकी जान नहीं निकल गई। बताया जा रहा है कि हमलावरों को पता था कि इंद्र बहादुर के परिवार के लोग बुधवार को खेत जोतने आएंगे। इसलिए उन्होंने पूरी तैयारी कर रखी थी। शिवनारायण के परिवार के पुरुषों के साथ साथ महिलाएं ईट पत्थर और लाठी लेकर पेड़ों के पीछे छिपी थीं। हमला शुरू हुआ तो 15-20 की संख्या में पुरुष और महिलाएं उन पर टूट पड़ीं।

वीडियो के मुताबिक तीनों भाई जैसे ही ट्रैक्टर लेकर जैसे खेत में पहुंचे, उनके ऊपर पथराव शुरू हो जाता है। परिवार की महिलाओं सुनीता और रागिनी जब यह देखती हैं तो मदद की गुहार लगाती हैं। इसी दौरान हमलावर बेहद उग्र हो जाते हैं। जिसके बाद लाठी-डंडों से इंद्र बहादुर और उसके दोनों भाइयों को पीटने लगते हैं। हमलावरों के पक्ष में आई महिलाएं भी उन पर पथराव करने लगती हैं। तीनों भाई पहले थोड़ा प्रतिरोध करते हैं, लेकिन 15-20 की संख्या के आगे वे बेबस हो जाते हैं। हमले में जमीन पर गिरने के बाद लाठियों की ऐसी बरसात होती है कि वे दोबारा उठ नहीं पाते। उनका यह हाल देखकर रागिनी और सुनीता उसे लिपटने लगी, लेकिन हमलावरों ने महिलाओं पर रहम नहीं किया। दोनों को लाठी-डंडे और ईट पत्थर से इतना पीटा कि वे बेहोश हो गईं।

इस खौफनाक वीडियो के वायरल होने के बाद इलाके में दहशत का माहोल है। इस घटना के बाद लोग सहमे हुवे है। घटना में शामिल अभी तक कुल दस लोगो की पुलिस गिरफ्तारी कर चुकी है। बकिया सभी अन्य आरोपियों के तलाश में पुलिस टीम दबिश का सिलसिला जारी किये हुवे है। समाचार लिखे जाने तक कुछ और सफलता मिलने की सूत्र सुचना दे रहे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *