प्रयागराज – टिडडी दल के खतरे की सम्भावना देख प्रशासन ने कसी कमर, कृषि अधिकारी का नियंत्रण हेतु दिशा निर्देश जारी

तारिक खान

प्रयागराज- टिड्डी दल के द्वारा महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश में जारी कोहराम के बाद इसका खतरा अब उत्तर प्रदेश में भी होने की सम्भावना प्रकट हो रही है। इस सम्बन्ध में जिला कृषि रक्षा अधिकारी प्रयागराज इन्द्रजीत यादव ने बताया है कि उत्तर प्रदेश राज्य से लगे हुए मध्य प्रदेश के जनपदों में टिडडी दल के प्रकोप देखा गया है। यह टिडडी दल 2-3 किमी तक फैला होता है, तथा करोड़ों की संख्या में टिडडी लगभग दो से ढाई इन्च लम्बें कीट होते है। जो कुछ ही घंटों में पूरी फसल को खा सकते हैं। यह कीट शाम को छ से आठ बजे के बीच जमीन पर आकर बैठ जाते हैं, तथा रात्रि में हरे पत्तों को खा जाते हैं। इस प्रकार टिडडी दल एक महामारी का रुप ले लेता है। अतः जनपद प्रयागराज में टिडडी दल के प्रदेश के सम्भावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए नियंत्रण की सलाह दी गई है।

इस क्रम में बताया गया है कि यांत्रिक उपाय टिडडी दल के नियत्रंण हेतु अपने खेत के चारों तरफ धूओ करना/ पटाखे बजाना/ ढोल, नगाड़ा, टिन, ड्रम, डीजे, बजाकर शोर किया जाय, जिससे टिडडी दल आपके खेतों में नहीं प्रवेश कर सके। टिडडी दल के नियंत्रण हेतु आवश्यकता पड़ने पर कृषी रछा रसायनों का छिडकाव पावर स्प्रेयर, ट्रक्टर चलित स्प्रेयर, फुट स्प्रेयर मशीन, अग्निशमन देकर वाहन के द्वारा भगाया जा सकता है।

किसान भाई टिडडी दल के प्रकोप कि स्थित में किसी भी जानकारी हेतु लोकस्ट कन्ट्रोल आर्गेनाइजेशन फरीदाबाद अथवा केन्द्रीय एकीकृतनासी जिव प्रबंधन केन्द्र लखनऊ के फोन नंबर – 0522-2732063 अथवा कृषि निदेशालय उ0प्र0 लखनऊ के कन्ट्रोल रुम -0522-2205867 पर सूचित करें, जिससे टिडडी दल का ससमय नियंत्रण किया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *