फिर बढ़ा पेट्रोल और डीज़ल का दाम, केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा, तेल की मांग अचानक बढ़ने से कीमतों में आया उछाला

तारिक खान

नई दिल्ली. सोमवार को एक बार फिर तेल के दामों में बढ़ोतरी देखने को मिली है। सात जून के बाद से डीज़ल का दाम 22 बार और पेट्रोल का दाम 21 बार बढ़ चुका है। सोमवार को सरकारी तेल कंपनियों की कीमतों की नोटिफ़िकेशन के अनुसार, पेट्रोल का दाम पांच पैसे प्रति लीटर और डीज़ल का दाम 13 पैसे प्रति लीटर बढ़ाया गया है। इस तेल की कीमतों में बढ़ोतरी पर विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है। इस दौरान केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने तेल की कीमतों पर अपना बयान आज जारी किया है।

केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है इस समय भारत की अर्थव्यवस्था चुनौतियों भरे दौर से गुज़र रही। तेल की कीमतों को लेकर उन्होंने कहा कि ‘लॉकडाउन के बीच तेल की मांग अचानक बढ़ने से क़ीमतों में उछाल आया है।’ समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, “दुनिया और भारत की अर्थव्यवस्था चुनौतियों भरे दौर से गुज़र रही है। कोविड-19 महामारी के कारण ऊर्जा उद्योग मुश्किल में है।” केंद्रीय मंत्री ने कहा, “पेट्रोल की मांग अप्रैल और मई के महीनों में 70-80 प्रतिशत नीचे चली गई थी जिससे अर्थव्यवस्था को सीधा नुकसान पहुंचा। अब फिर माँग बढ़ने लगी है।”

तेल की क़ीमत को लेकर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, “कोई भी तेल की क़ीमतों का अनुमान नहीं लगा सकता मगर हमारा अंदाज़ा है कि अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की क़ीमतें स्थिर होते ही भारत में भी तेल की क़ीमतें स्थिर हो जाएगी।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *