गंभीर आरोप – हे भगवान, रक्षक है या भक्षक, पशु चिकित्सक और अधिशाषी अधिकारी ने बेचीं गौकशी के लिए गाय

हर्मेश भाटिया

रामपुर. जब रक्षक ही भक्षण पर उतर आये तो आखिर समाज कहा जाए। यहाँ तो मामला बेजुबान जानवर का है। जिसके खुद को रक्षक कहने वाले ही उसकी जान के दुश्मन को बेच डाला। मामला रामपुर के नगर पंचायत मसवासी क्षेत्र का है। जहा एक अधिशासी अधिकारी और एक पशु चिकित्सक पर एक गाय को गौकशो के हाथो बेचने का आरोप लगा है।

नगर पंचायत मसवासी के अधिशासी अधिकारी अवधेश मिश्रा एवं पशु चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ सुनील कुमार द्वारा गौशाला से गोकशी करने के लिए पशु तस्कर को गाय बेचे जाने के गंभीर आरोप का मामला प्रकाश में आया है। जिससे लोगों में रोष एवं आक्रोश व्याप्त है। नगर पंचायत मसवासी में अस्थाई गौशाला है, जहां पर कम गाय ही बंधी रहती हैं। आरोप है कि पशु चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ सुनील कुमार ने नगर पंचायत मसवासी के अधिशासी अधिकारी अवधेश मिश्रा से सांठगांठ करके पशु तस्कर को गाय बेच दी। जब वह पशु तस्कर गाय को लेकर ग्राम विजारखाता से निकल रहा था, तभी लोगों ने उसे पकड़ लिया। जिससे मौके पर भीड़ जमा हो गई।

सुचना पाकर मौके पर पुलिस भी आ गई और पशु तस्कर एवं गाय को पुलिस चौकी ले आई। मौके पर काफी भीड़ एकत्रित हो गई, और लोगों में अधिशासी अधिकारी के खिलाफ गुस्सा भड़कने लगा। जनता अधिशासी अधिकारियों पशु चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। उन्होंने कहा कि इन लोगों के द्वारा सांठगांठ के चलते पशु तस्कर को गाय बेची गई है। लोगों का कहना है कि जब नगर में दो करोड़ की लागत से गौशाला बन रही है, तब ऐसे माहौल में भी अधिशासी अधिकारियों चिकित्सक द्वारा गायो को बेचा जा रहा है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। दोनों अधिकारियों के खिलाफ दर्जनों लोगों द्वारा एफआईआर के लिए तहरीर दी गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *