पंजाब नेशनल बैंक जंक्शन रोड शाखा के सामने हुई लूट में शामिल लुटेरों मे से दो गिरफ्तार

रवि पाल

मथुरा। जनपद में गुरुवार 3 सितंबर को पंजाब नेशनल बैंक शाखा जंक्शन रोड, चौकी बाग बहादुर के समीप दिन दहाड़े एक वृद्ध के साथ हुई 4.15 लाख की लूट से क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। घटना के अनवारण के लिए पुलिस ने कई टीमें गठित की थी। आज शनिवार को मामले में कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार दुबे के हाथ बड़ी सफलता तब लगी जब उन्होंने घटना में संलिप्त दो अन्तर्राज्यीय लुटेरों को गिरफ़्तार कर लिया।

ज्ञातव्य है कि गुरुवार 3 सितंबर को रमेशचन्द्र मीणा पुत्र स्व0 श्री वृन्दावनलाल निवासी मालीपाडा धौली प्याऊ पंजाब नेशनल बैंक चौकी बाग बहादुर जंक्शन रोड शाखा से अपने खाते से 4,15,000 रुपये निकाल कर घर जा रहे थे। इसी बीच लगभग दोपहर 12 बजे अज्ञात बदमाशों द्वारा बैंक के बाहर निकलते ही रुपयों से भरा थैला उनसे छीन लिया गया। बदमाश थैला छीनकर भाग गए। घटना के सम्बन्ध मे थाना कोतवाली जनपद मथुरा पर मुकदमा पंजीकृत कराया गया।

उक्त घटना से मथुरा शहर मे सनसनी फैल गयी। घटना के अनावरण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधिकारीगण द्वारा तत्काल मौके का मुआयना कर सी0सी0टी0वी0 फुटेज व अन्य सभी परिस्थितियों का आकलन करते हुए टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देष दिये गये।  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मथुरा द्वारा दिये गये आदेश व निर्देशों के अनुक्रम मे शपुलिस अधीक्षक नगर के निकट निर्देशन व क्षेत्राधिकारी नगर के पर्यवेक्षण में थाना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक श्री संजीव कुमार दुबे के नेतृत्व में निरीक्षक अपराध श्री विनय कुमार सिंह द्वारा मय टीम लूटी गयी रकम में से 51,810 रुपये बरामद करते हुए घटना में शामिल दो अन्तर्राज्यीय लुटेरों को गिरफ्तार करते हुए सनसनीखेज घटना का अनावरण किया गया।

गिरफ्तार अभियुक्तगण मोहन सिंह उर्फ चोटी उर्फ बाबा पुत्र जगदीश निवासी ए 91 ग्रीन पार्क थाना पल्लवपुरम जनपद मेरठ तथा अर्जुन उर्फ सुमित पुत्र मोहन सिँह निवासी ए 91 ग्रीन पार्क थाना पल्लवपुरम जनपद मेरठ पर विधिक कार्यवाही पुलिस कर रही है. घटना मे प्रयुक्त एक अदद Honda Activa Scooty UP81BW4217,  मोहन सिंह से लूटी गयी रकम,  एक अदद तमंचा 12 बोर व तीन जिन्दा कारतूस 12 बोर तथा अभियुक्त मोहन सिंह द्वारा लूटी गयी रकम मे से अपने विभिन्न बैंक खातो मे जमा किये गये लगभग 58,000 रुपये, जिनको फ्रीज/होल्ड कराया गया।

इस तरीके से दिया जाता है घटना को अंजाम:

बदमाशों द्वारा आपराधिक दृष्टिकोण से अपने लक्ष्य को चिन्हित कर घटना से पूर्व घटनास्थल, व्यक्ति व लक्ष्य की पूर्ण रुप से रेकी कर अपने अनुसार सही समय पर घटना को अंजाम देना। सर्वप्रथम हर सम्भव चोरी का प्रयत्न करना, असफल होने पर अतिरिक्त टीम द्वारा लूट की घटना कारित करना। उल्लेखनिय है कि मोहन सिंह उर्फ चोटी व उसके साथियों के द्वारा अपने घर से 300-400 कि0मी0 दूर देश के विभिन्न प्रांतो मे घटनाएँ की जाती है। अन्य प्रांतो से जेल जा चुके है, व कुछ मे सजायाफ्ता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *