वाराणसी – बढती बेरोज़गारी के मुद्दे पर जलाया दिया और मोमबत्ती, जाने कहा क्या हुआ कार्यक्रम आयोजित

फुल मुहम्मद “लड्डू”

वाराणसी। बढती बेरोज़गारी और सरकारी उद्यमों के निजीकरण के खिलाफ सरकार को घेरती सपा ने आज पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार रात ठीक 9 बजे 9 मिनट के लिए दीपक, मोमबत्ती और टार्च जला कर अपना विरोध प्रदर्शन पुरे प्रदेश में ही कमोबेस किया। इस दरमियान सपा जन अपने छतो से लेकर गली मुहल्लों और चौराहों तक में कार्यक्रम के तहत मोमबत्तियां, टार्च, दीपक जला कर सरकार के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करवाया।

इस क्रम में वाराणसी में भी कई कार्यक्रम आयोजित हुवे। छोटी छोटी टोलियों में सपा जनो ने जमकर सरकार की मुखालफत किया और बढती बेरोज़गारी और अपराध पर सरकार की आलोचना किया। इस दरमियान काफी समय के बाद सपा शहर में संगठित दिखाई दी। इन कार्यक्रमों में आदमपुर थाना क्षेत्र के कोयला बाज़ार चौराहे पर मोहम्मद अजफर “गुड्डू मास्टर और युवा सपा नेता अयान अहमद के संयुक्त नेतृत्व में आयोजित कार्यक्रम में सैकड़ो सपा जनों ने सड़क पर बेरोज़गार पाने के लिए 251 दिया जलाया। इस दौरान मशाल और मोमबत्तिया लिया सपा जनों ने जमकर नारेबाजी भी किया।

21 दिन माँगा था कोरोना को से जंग जीतने के लिए, कोरोना तो खत्म नही हुआ बेरोज़गारी बढ़ गई – मो0 अजफर “गुड्डू मास्टर”

इस दौरान मीडिया से बात करते हुवे गुड्डू मास्टर ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने केवल 21 दिनों का समय माँगा था कि कोरोना से जंग हम जीत जायेगे और ताली थाली बजवाया था। 21 दिन क्या ऐसे कई 21 दिन मोदी जी ने ले लिए मगर कोरोना दूर होना छोड़े कोरोना ने अपना देश में कहर बरपा कर रखा है। इस लॉकडाउन की केवल एक उपलब्धी रही कि अमीर और भी अमीर हो गए और गरीब बेरोजगार हो गया। करोडो रोज़गार हर वर्ष देने का वायदा करने वाले प्रधानमंत्री करोडो रोज़गार तो नही दे सके है मगर करोडो बेरोजगार हो गए है।

सपाई लाठियों और सलाखों से नही डरते, लोकतंत्र नही खत्म होने देंगे – अयान अहमद

इसी कड़ी में युवा सपा नेता अयान अहमद ने कहा कि प्रदेश में अपराध दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। अपराधी बेख़ौफ़ है जबकि आम जनता खौफजदा है। रोज़ रोज़ हत्या, लूट और बलात्कार के समाचार मन को झकझोर देते है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार में अपराध अपने चरम पर है। जनता त्राहि त्राहि कर रही है। मगर कोई उसकी सुनने वाला नहीं है। लोकतान्त्रिक तरीके से विरोध करने पर सरकार निराकुश्ता की हदे पार करके विपक्ष पर लाठिया बरसाती है। लोकतंत्र ही खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। मगर शायद सरकार को पता नही है कि हम सपाई लाठियो और कैदखानो से नहीं डरते है। हम गलत के खिलाफ आवाज़ उठाते रहे है और उठाते रहेगे।

इस अवसर पर मुख्य रूप से मो0 अज़फर उर्फ गुड्डू मास्टर, अयान अहमद, शाहनवाज़ राईन, अभिषेक यादव, मनीष यादव, सलीम अंसारी, सागर राय, मो आबिद, ताबिश अली, अरमान राईन, मोहित कन्नौजिया, हाजी शमशुद्दीन, मो0 शाहिद, मो आफताब उर्फ टाडू भाई, मो0 समीर, अशरफ अहमद, बाबू ठंडा, एब्दुर्रह्मान, मो अहमद, अरबाज़ अहमद, मुमताज़ खान, इकरार हाशमी चीकू, मामा उर्फ अहमद, मो शाहिद, इरशाद अहमद, शमशुद्दीन, दानिश, असलान अहमद, अदनान अहमद, इकबाल अहमद आदि सपा जन उपस्थित थे।

मुद्दों से भटका रही है सरकार – हाजी ओकास अंसारी

इसी क्रम में आज रात 9 बजे कांग्रेस पार्षद हाजी ओकास अंसारी ने सोशल डिस्टेंस का और डिजास्टर मैनेजमेंट का पालन करते हुवे अपने आवास पर अँधेरा करके मोमबत्ती जला कर विरोध दर्ज करवाया गया। इस मौके पर उन्होंने अपने बयान में कहा कि देश में बढती बेरोज़गारी, ज़ुल्म-ओ-सितम के दौर, गरीबी, गिरती जीडीपी, बिकते सरकारी उपक्रमों के बीच सरकार के कदमो में बैठे कुछ पत्रकार सुशांत सिंह को ही इन्साफ दिलवाने में लगे हुवे है। ऐसा लगता है कि सुशांत सिंह के मौत का खुलासा सीबीआई से पहले ये पत्रकार अपने न्यूज़ रूम में कर डालेगे। ये सब सिर्फ जनता का ध्यान असली मुद्दों से भटकाने के लिए सरकार के द्वारा किया जा रहा है। मगर जनता अब इनके झूठ को पकड़ चुकी है। इसका नतीजा अगले चुनाव में समझ आएगा।

सरकार रोज़गार मुहैया करवाए – प्रभात वर्मा

वही, रात्रि 9 बजे मोमबत्ती जलाकर प्रभात वर्मा के नेतृत्व में  गिरजाघर स्थित उद्यम सिंह जी की प्रतिमा पर विरोध कर रहे थे, जहा पुलिस द्वारा विरोध करने व वहा से हटाने देने के बाद दूसरी जगह पर बेरोजगारी के खिलाफ सरकार का विरोध किया गया व सरकार से युवाओं के लिए नौकरी देने के लिए मांग किया गया। इस अवसर पर प्रभात कुमार वर्मा ने कहा कि सरकार केवल अमीरों की हो गई है। गरीब भूखा है उसको देने के लिए सरकार के पास कुछ नही है जबकि अरबो रुपया का टैक्स अमीरों का माफ़ किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रभात वर्मा, डा अजित यादव, सुनील यादव, विवेक यादव, विजय यादव, सुमित गुप्ता, अमित गुप्ता, विकास, विनय, संतोष, उदय नारायण सिंह इत्यादि उपस्थित थे।

देश के युवाओं को रोज़गार चाहिये, उनके मन की बात सुने – शैलेन्द्र सिंह

वरिष्ठ कांग्रेस नेता शैलेन्द्र शिंह ने अपने आवास पर 21 दीये जला कर इस विरोध का हिस्सा खुद को बनाया. उन्होंने इस अवसर पर अपने सन्देश में कहा कि देश में बेरोज़गारी अपने चरम पर है. गरीबो की सुनवाई नही है. देश की जनता को भ्रमित करने का काम अब नही चलेगा. अब अपने मन की बात सुनाने के बजाये युवाओं के मन की बात सुनने का समय है और उनको रोज़गार चाहिए. देश के युवाओं को रोजगार चाहिए। उनकी रूकी हुई भर्तियों की ज्वाइनिंग, परीक्षाओं की डेट, नई नौकरियों की नोटिफिकेशन, सही भर्ती प्रक्रिया और ज्यादा से ज्यादा नौकरियां चाहिए।

बातो से पेट नही भर जाता, रोज़गार चाहिये – नुरुज्ज़मा “विक्की”

युवा कांग्रेस नेता नुरुज्ज़मा विक्की ने आज अपने आवास पर रात ठीक 9 बजे सभी लाइट बुझा कर दीपक जला कर इस विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया।

उन्होंने कहा कि देश के युवाओं को रोज़गार मुहैया करवाने के जगह सरकार सिर्फ बाते कर रहे है। वह बात भी युवाओं के मन की नहीं बल्कि खुद के मन की बात हो रही है। बढ़ता कोरोना संक्रमण, घटता कारोबार और गिरती जीडीपी पर कोई बात नही हो रही है। बातो से पेट नही भर जाता है, ये बात सरकार को समझनी चाहिये।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *