कौन थी वो कलयुगी ज़ालिम माँ, जो प्रसव के बाद अपनी इस फुल जैसी मासूम बच्ची को अस्पताल में छोड़ कर चली गई ?

रवि पाल

मथुरा। इसको कलयुग कहे या फिर माँ की ममता मर जाने की बात कहे कुछ समझ नही आएगा। एक कलयुगी माँ अपनी फुल जैसी मासूम बच्ची को प्रसव के बाद अस्पताल में छोड़ कर चली जाती है। आखिर उसकी ममता कहा मर गई थी जो इस फुल जैसी दूध मुहि बच्ची को ऐसे लावारिस छोड़ कर चली गई। आखिर उसके दिल में थोडा रहम भी नही आया कि जिस मासूम बच्ची ने अभी अपनी आँख खोल कर दुनिया में किसी को देखा ही नही उसको माँ की ममता से वह महरूम कर रही है।

मामला मथुरा के धौली प्याऊ क्षेत्र का है। जहा एक युवती प्रसव पीड़ा के बाद गुरुवार देर शाम एक व्यक्ति के साथ जिला अस्पताल पहुंची थी। महिला का प्रसव देर रात को हुआ। बच्ची को जन्म देने के बाद युवती अस्पताल से कहीं चली गई। ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स ने जब नवजात के रोने की आवाज सुनी और वह वार्ड में पहुंची तो वहां युवती नहीं थी, बच्ची रो रही थी। काफी खोजबीन के बाद भी युवती का कही पता नहीं चल सका।

इसके बाद स्टाफ ने एसएनसीयू के नोडल, डॉक्टर के के माथुर को घटना के बारे में जानकारी दी। नोडल अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बच्ची को एसएनसीयू में भर्ती कराया। घटना के सम्बन्ध में तत्काल पुलिस को जानकारी दी गई। साथ ही चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की अध्यक्ष को भी मामले के बारे में बताया। चिकित्सक डॉ के के माथुर का कहना है कि बच्ची पूरी तरह स्वस्थ है। बच्ची की देखभाल अस्पताल में स्टाफ नर्सों द्वारा की जा रही है।

वही कलयुगी माँ आज पांचवा दिन होने के बाद भी वापस नही आई। उसकी ममता ने उसको झकझोरा भी नही। एक बार भी उसके सीने में रखे पत्थर हो चुके दिल ने उसको आवाज़ नही दिया है कि अपनी मासूम बच्ची को देख भी लेती। शायद उसने उसको नज़र भर देखा भी नही होगा। आखिर उसकी ममता इतनी कठोर कैसे हो सकती है ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *