दलित प्रधान हत्याकांड का मुख्य आरोपी, 3 लाख के इनामिया बदमाश सूर्यांश से हुई पुलिस की मुठभेड़, चंद मिनटों में ही हुआ आतंक वही ढेर

संजय ठाकुर

आजमगढ़। सरायमीर थाना क्षेत्र के शेरवा गांव के नहर पुलिया के पास पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में पूर्व घोषित एक लाख का इनामी बदमाश सूर्यांश दुबे गंभीर रूप से घायल हो गया, जहां से अस्पताल ले जाते समय उसकी में मौत हो गई। मारे गए बदमाश पर दो लाख का शासन ने और इनाम कर रखा। वहीं मुठभेड़ में बदमाश की गोली से स्वाट टीम के प्रभारी श्रीप्रकाश शुक्ला सहित एक कांस्टेबल भी घायल हो गए, जहां उन्हें उपचार के लिए भर्ती कराया गया। सरायमीर थाना क्षेत्र में शेरवा गांव की बस्ती नहर की पुलिया के पास गुरुवार को रात 11 बजे के बाद ये मुठभेड़ हुई।

बताया गया कि सूर्यांश दुबे को पुलिस काफी समय से तलाश कर रही थी, सूर्यांश दुबे तरवा थाना क्षेत्र के बांसगांव के बहुचर्चित दलित ग्राम प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या में मुख्य आरोपी था। उसके ऊपर आजमगढ़ और आसपास जिलों में करीब एक दर्जन से अधिक मुकदमें मर्डर, लूट के पंजीकृत हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सूचना मिलने पर लोकेशन के आघार पर घेरेबन्दी की गई, बदमाश की तरफ से फायरिंग पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की।

गोली से सूर्यांश दुबे व एसआई श्रीप्रकाश शुक्ल और एक सिपाही भी घायल हुए। तीनों को अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टर ने सूर्यांश को मृत घोषित कर दिया। जबकि घायल दरोगा और सिपाही का अस्पताल में उपचार जारी है। सूर्यांश इसी वर्ष के अगस्त माह में तरवां थाना के बांसगांव में प्रधान सत्यमेव जयते की गोली मारकर हत्या में वांछित था। घटना ने काफ़ी तूल पकड़ा था और राजनीतिक मुद्दा भी बना था। इस बदमाश पर एक लाख का इनाम घोषित किया गया था, बाद में शासन ने दो लाख का इनाम घोषित कर दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *