किसान आन्दोलन – नही मनाया किसानो ने नए साल का जश्न, अरविन्द केजरीवाल ने पूरा किया वायदा, लगवाया फ्री वाईफाई

आदिल अहमद

नई दिल्ली. एक महीने से अधिक वक्त से सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के विरोध में डटे किसानो का मनोबल भयानक ठण्ड भी नही तोड़ पा रही है। ठण्ड भी ऐसी ही सब कुछ जमा देने को आतुर है। मगर किसानो के हिम्मत और जज्बे के आगे कुदरत की ठण्ड भी ठंडी पड़ रही है। वही किसानो ने आज नए साल का जश्न नही मनाया और कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नही होती है हम जश्न नही मनायेगे, पंजाब के रोपड़ से आए किसान हरजिंदर सिंह ने कहा, ‘‘सरकार जब तक हमारी मांगें नहीं मान लेती, तब तक हमारे के लिए कोई नया साल नहीं है।”

किसानों का कहना था कि बुधवार को हुई बातचीत में सरकार ने बिजली बिल में बढ़ोतरी और पराली जलाने पर जुर्माना लगाने से जुड़ी चिंताओं का निदान करने का भरोसा दिया, लेकिन यह जश्न मनाने के लिए काफी नहीं है। उल्लेखनीय है कि प्रदर्शनकारी किसान तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी दिए जाने की मांग कर रहे हैं।

राघव चड्ढा ने पूरा किया वायदा लगवाया फ्री वाई फाई

इस दरमियान खराब कनेक्टिविटी की समस्या अब दूर हो गई, क्योंकि सेवादार अरविंद केजरीवाल ने किसानों से किए, वादा को पूरा कर दिखाया। आम आदमी पार्टी के नेता और पंजाब के सह-प्रभारी राघव चड्ढ़ा की मौजूदगी में किसानों की सुविधा के लिए सिंघु बॉर्डर पर पांच फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट लगवाए।

बताते चले कि खराब कनेक्टिविटी की शिकायत पर एक दिन पहले केजरीवाल ने किसानों को फ्री वाईफाई की सुविधा देने का एलान किया था। चड्ढा ने बताया कि किसानों की शिकायत के आधार पर कमजोर नेटवर्क वाले जगहों की पहचान के बाद वाईफाई हॉटस्पॉट लगाने की शुरुआत की गई।

उन्होंने कहा कि अगर टिकरी बॉर्डर से भी ऐसी मांग आती है तो वहां भी इसकी सुविधा मुहैया की जाएंगी। बेहतर इंटरनेट कनेक्टिविटी से किसान, सोशल मीडिया पर नेताओं की ओर से किसानों के खिलाफ फैलाए जा रहे झूठ का पर्दाफाश भी कर सकेंगे जबकि उन्हें विडियो कॉल के जरिये अपने परिजनों से संपर्क का भी मौका मिल सकेगा।

राघव चड्ढा ने कहा कि रोजाना मजबूत हो रहे किसान आंदोलन में देश के हर कोने से किसान पहुंच रहे हैं, लेकिन अपने परिजनों से दूर हैं। वाई फाई हॉटस्पॉट से उनकी मुश्किलें कम होंगी। चड्ढा ने कहा कि फ्री वाईफाई सुविधा से किसान अपने मां-बाप को देख सकेंगे, चिंतित पत्नी से बात करने के साथ ही अपने बच्चों को लोरी सुनाने सहित दिल की बातें कर पाएंगे। अपने दोस्तों से कुछ चुटकुले भी शेयर कर पाएंगे।  उन्होंने कहा कि किसान हमारे अन्नदाता हैं, हमारे देवता हैं, इसलिए उनकी सेवा करने की कोई सीमा नहीं हो सकती है। सेवादार अरविंद केजरीवाल सहित आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता किसानों के लिए आखिरी सांस तक खड़े रहेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *