गजरौला – किसान आन्दोलन के लिए दिल्ली जा रहे किसानो को पुलिस ने रोका तो वही बैठ गए वह धरने पर

हर्मेश भाटिया

पीलीभीत। कृषि कानून के विरोध में दिल्ली में चल रहे आंदोलन में हिस्सेदारी करने जा रहे किसानों को पुलिस प्रशासन ने गजरौला क्षेत्र में जरा पुलिस चौकी पर रोक लिया। इसके बाद गुस्साए किसान असम हाईवे पर दरी बिछाकर धरने पर बैठ गए। इससे जाम की स्थिति भी बन गई। इस दौरान किसानों के समर्थन में सपा नेता पूर्व राज्यमंत्री हेमराज वर्मा भी पहुंच गए।

दिल्ली कूच करने को निकले सभी किसान पूरनपुर तहसील क्षेत्र के अलग-अलग गांव के थे। उनका कहना था कि दिल्ली में धरना दे रहे किसानों में उनके अपने भी है। उनको राशन और अन्य जरूरी सामान पहुंचाने के लिए निकले है। एक ट्रैक्टर में दो ट्रॉलियां है। एक ट्रॉली में राशन भरा है, जबकि दूसरे में किसान बैठे हैं। किसानों को पहले गजरौला क्षेत्र में जरा पुलिस चौकी पर रोका गया। वहां पुलिस से नोकझोंक हुई। वहां किसान असम हाईवे पर दरी बिछाकर बैठ गए।

इससे जाम लगने लगा तो गजरौला थाना पुलिस ने उन्हें आगे जाने के लिए कह दिया। इसके बाद किसानों को सुनगढ़ी क्षेत्र के पूरनपुर गेट चौकी के पास रोक लिया। इसकी जानकारी मिलते ही आसपास के गांवों के किसान भी जमा हो गए। पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के सामने ही किसान बैरियर हटाकर जबरन ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर आगे बढ़ गए। इसके बाद करीब दो किलोमीटर आगे रास्ता बंद कर किसानों को रोक दिया गया। वहीं पूरनपुर गेट चौकी पर जमा भीड़ को आगे नहीं जाने दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *