सर्दी की पहली दस्तक, लुढ़का तापमान तो ठिठुरे लोग

फारुख हुसैन

लखीमपुर खीरी= लखीमपुर खीरी जिले के तराई इलाकों में सर्दी की पहली दस्तक बुधवार को दिखाई दी। तीन डिग्री तापमान लुढ़कने के साथ ही कड़ाके की ठंड ने लोगों को अपने आने का अहसास करा दिया। सुबह से ही बादल छाए रहने के साथ ही गलन भरी ठंड के साथ चलती ठंडी हवाओं ने दिनभर लोगों को ठिठुरने पर मजबूर कर दिया। सुबह के समय सड़कों पर भी सन्नाटा पसरा रहा और यही नहीं देर शाम से ही घना कोहरा छा गया और शीत लहर भी चलने लगी जिसकी वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा और यहीं नहीं घने कोहरे के चलते वाहन चालाकों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा ।

 बता दें कि ठंड के सीजन का बुधवार सबसे ठंडा दिन रहा। इसका अहसास मंगलवार की रात से ही लोग करने लगे थे। बुधवार सुबह कोहरे के साथ ठंडी हवा ने अपना असर दिखाना शुरू किया। पूरे दिन बदली छाए रहने और पड़ी ठंड के चलते हर शख्स परेशान दिखा,कई लोग तो आने वाले दिनों में तापमान में और गिरावट आने के साथ ठंड बढ़ने की संभावना जताते रहे। बुधवार को न्यूनतम तापमान 10 डिग्री व अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

यूं तो नवंबर महीने के अंत में ही मौसम में तेजी से ठंड बढ़ने लगती है, लेकिन इस बार दिसंबर के 11 दिन निकलने के बाद अचानक ठंड ने तेवर दिखाए। सर्दी के मौसम में पहली बार जबरदस्त ठंड बुधवार को देखने को मिली। एकाएक अधिकतम तापमान में पारा तीन डिग्री लुढ़क गया। सुबह होते ही घर से बाहर निकलने में लोग ठंड के कारण कांपते दिखे। सड़क किनारे व चौराहों के आसपास लोग आग से हाथ तापते दिखे। चाय की दुकानों पर भी ठंड का असर लोगों पर खासा दिखा। दिनभर सूर्य देवता के दर्शन नहीं होने के कारण खासकर घरेलू महिलाएं परेशान दिखीं।

सुबह शाम घर से बाहर टहलने जाने वालों ने भी ठंडी हवाओं के बीच घर से बाहर नहीं निकलने में ही भलाई समझी। मौसम की मार की वजह से दिनभर मौसम में ठिठुरन बनी रहने के कारण तराई इलाकों में देर शाम से ही सड़को पर सन्नाटा पसरा रहा। शहरवासियों का कहना था कि तापमान में गिरावट के साथ ही ठंड बढ़ने के पूरे आसार दिखने लगे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *