वाराणसी एमएलसी चुनाव में सपा की जीत का परचम, भाजपा के पेशानी पर परेशानी का बल

तारिक आज़मी

वाराणसी। वाराणसी स्नातक निर्वाचन में भाजपा को एमएलसी की चुनाव परिणाम में दोनों सीटों पर हार मिली है। शिक्षक एमएलसी सीट भी शुक्रवार को सपा ने भाजपा ने छीनी, तो वहीं शनिवार को एमएलसी स्नातक सीट पर सपा के आशुतोष सिन्हा ने अपनी जीत सुनिश्चित की है।ये दोनों सीटें पिछले दो टर्म यानि दस साल से भाजपा के पास थीं।

एआरओ/जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा के अनुसार वाराणसी खंड शिक्षक निर्वाचन के मतगणना  22 चरण के बाद समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आशुतोष सिन्हा को 25351 मत और भाजपा के केदारनाथ सिंह को 22685 मत प्राप्त हुए हैं। वही इसके पहले शुक्रवार को शिक्षक सीट पर लालबिहारी यादव ने निर्दलीय प्रत्याशी प्रमोद मिश्रा को 936 वोटों के अंतर से अपनी जीत दर्ज कराया था। भाजपा समर्थित प्रत्याशी व निवर्तमान एमएलसी चेतनारायण सिंह तीसरे स्थान पर रहे।

इस जीत ने भाजपा के पेशानी पर परेशानी का एक बड़ा बल दे डाला है। भाजपा शायद इस हार का मतलब जानती है। उसको शायद अच्छी तरह पता है कि इन चुनावों में एक एक मतदाता विधानसभा चुनावों में कई मतों पर असर डाल सकता है। शायद भाजपा इसका भी मंथन करेगी कि उसकी हार का कारण उसके कौन नेता बने जिन्होंने कार्यकर्ताओं के अन्दर वो आग नही भरी जो रहती है। बूथ पर जितने मतदान होने थे वह भी कम हुवे है।

इस हार पर भाजपा मंथन करती है या नही ये तो आने वाला कल ही बता सकता है। मगर इस हार से भाजपा के पेशानी पर परेशानी के बल दिखाई दे रहे है। ख़ास तौर पर पूर्वांचल जहा अपना गढ़ भाजपा समझती थी उसको लगातार दो झटके लगे है। पहले उपचुनाव में जौनपुर की सीट गवाई फिर ये दो अप्रत्याशित असफलता एक और झटका दे गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *