मध्य प्रदेश के भाजपा नेता और मंत्री का विवादित बयान, बोले अवार्ड वापस करने वाले तथाकथित अवार्डी और बुद्धिजीवी देश भक्त नही है

तारिक खान

डेस्क. एक तरफ जहा किसान आन्दोलन अपने चरम पर है वही दूसरी तरफ सत्ता पक्ष कृषि बिल का समर्थन करता दिखाई दे रहा है। इस दरमियान आज भारत बंद का समर्थन सभी राजनैतिक दल कर रहे है। वही दूसरी तरफ सत्ता पक्ष किसानो को भटकाए जाने की बात कह रही है। वही अब मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने अवार्ड विनर्स को देश द्रोही करार देते हुवे अपना बयान जारी कर एक और बहस का मुद्दा छेड़ दिया है।

मध्य प्रदेश के बीजेपी नेता और एक मंत्री ने किसानों के आंदोलन के समर्थन में अवार्ड वापस कर रहे लोगों की आलोचना किया है। मध्‍य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने अपने बयान में कहा है कि ‘जो लोग भारत माता को भला बुरा कह रहे थे और देश को विभाजित करने की कोशिश कर रहे थे, उन्‍हें राष्‍ट्रीय अवार्ड से नवाजा गया।’ उन्‍होंने कहा कि यह तथाकथित अवार्डी और बुद्धिजीवी, देशभक्‍त नहीं हैं।’

बताते चले कि किसान कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों के समर्थन में विभिन्‍न ट्रेड यूनियनों ने आज मंगलवार को भारत बंद रखा है। किसानो के समर्थन में कई अवार्ड विनर्स ने अपने अवार्ड वापस करने की बात किया है। वही इस दरमियान जहा एक तरफ किसानो के आन्दोलन को सरकार उनसे बात कर खत्म करने की कवायद कर रही है। वही दूसरी तरफ भाजपा के मंत्री का इस प्रकार का बयान एक बड़ी बहस का मुद्दा तैयार कर बैठे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *