वाराणसी – जाने कैसे चढ़े दुर्गाकुंड चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह के हत्थे दो संदिग्ध युवक, घटना के पूर्व हुआ एक्शन

तारिक आज़मी

वाराणसी। वाराणसी के भेलूपुर थाना क्षेत्र में किसी अप्रिय घटना होने के पहले सिघम स्टाइल के तरह दुर्गाकुंड चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह ने दो संदिग्ध युवको को हिरासत में लेकर शांति भंग में चालान कर दिया है। सूत्रों की माने तो एक बड़ी कार्यवाही के तहत किसी घटना के होने के पहले ही संदिग्ध युवको की इस गिरफ़्तारी कर लिया। गिरफ्तार युवको में एक भाजपा के अल्पसंख्यक नेता के परिवार से सम्बंधित बताया जा रहा है। कुछ स्थानीय भाजपा नेताओं ने युवको को छुडवाने के लिए पुलिस पर दबाव बनाने का भी प्रयास किया मगर ये प्रयास असफल रहा।

घटना के सम्बन्ध में प्राप्त जानकारी के अनुसार दुर्गाकुंड चौकी इंचार्ज रोज़ के मामूर के अनुसार क्षेत्र में गश्त कर रहे थे कि तभी एक फोन काल पर उनको जानकारी मिली कि एक स्कूटी और एक बाइक से चार युवक रविन्द्रपूरी क्षेत्र में एक महिला के आसपास मंडरा रहे है। चेन स्नेचिंग जैसी घटना को अंजाम दे सकते है। सुचना पर चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह अपने हमराही सौरभ के साथ मौके पर पहुचे। पुलिस को देख चारो युवक जो एक महिला के आसपास अपने वाहन से संदिग्ध परिस्थितियों में दिखाई दिए।

पुलिस को देख संदिग्ध परिस्थियों में घूम रहे युवक तेज़ी से भागने लगे। पुलिस को शंका हुई कि ये युवक कही घटना को अंजाम तो नही दे चुके है। इस शंका के साथ चौकी इंचार्ज प्रकाश सिंह ने अपने हमराही के साथ युवको का पीछा करना शुरू किया। इस दरमियान इको को सूचित करते हुवे चौकी इंचार्ज ने युवको को पकड़ने का प्रयास किया। हूटर बजाने और आवाज़ देकर रुकने के लिए कहने के बावजूद भी युवक तेज़ी के साथ भाग रहे थे। वही रविन्द्रपूरी में मौजूद कुछ प्रत्यक्षदर्शियो ने अपना नाम न ज़ाहिर करने के शर्त पर बताया कि यदि पुलिस मौके पर सही समय पर नही आती तो कोई घटना घटित हो सकती थी। क्योकि युवको की गतिविधि काफी संदिग्ध दिखाई दे रही थी। सुचना पर एक्टिव हुई पुलिस से बचते हुवे युवक चेतगंज थाना क्षेत्र के फाटक शेख सलीम तक पहुच गए और एक बाइक से सवार दो युवक किसी गली में लापता हो गई। वही स्कूटी सवार युवको को जब आईसी दुर्गाकुंड ने फाटक शेख सलीम पर पकड़ा तो उन युवको ने पुलिस से धक्का मुक्की करने का प्रयास किया।

आईसी दुर्गाकुंड प्रकाश सिंह ने हल्का बलप्रयोग करते हुवे दोनों युवको को अपनी गिरफ्त में ले लिया। तब तक ईको की सुचना पर पानदरीबा चौकी इंचार्ज भी मौके पर पहुच गए और हिरासत में लिए गए युवको को लेकर पानदरीबा चौकी आये। मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियो ने बताया कि इस दरमियान युवको ने दुबारा पुलिस को धक्का देकर भागने का प्रयास किया। मगर पुलिस की मजबूत पकड़ से उनका प्रयास सफल नही हो पाया। पुलिस चौकी पर पहुचने के बाद जमा तलाशी में युवको के पास से कुछ बरामद नही हुआ। मगर युवको ने एक बड़े अल्पसंख्यक मोर्चा के भाजपा नेता का नाम बता कर पुलिस को हडदब में लेने का प्रयास किया।

बात बनती न देख युवको के पैरवी के लिए कुछ अल्पसंख्यक भाजपा नेता भी पुलिस चौकी के पास टहलते दिखाई दिए। मगर बात यहाँ आईसी दुर्गाकुंड की थी और सभी जानते थे कि पैरवी किसी की चलेगी नही। घटना की सुचना उच्चाधिकरियो को देने के बाद हिरासत में लिए गए युवको को भेलूपुर थाने ले जाकर शांति भंग के प्रयास में बुक किया गया। वही कब्ज़े में ली गई स्कूटी के कागज़ात मांगने पर युवक कागज़ तक नही दिखा पाए। पुलिस ने स्कूटी को सीज कर दिया है। गिरफ्तार युवको ने अपना नाम सैयद रज़ा अली, और दुसरे ने अयान हैदर बताया। बताया जाता है कि गिरफ्तार युवको में एक युवक भाजपा के एक बड़े अल्पसंख्यक नेता के परिवार से सम्बंधित है। समाचार लिखे जाने तक पुलिस अग्रिम विधिक कार्यवाही कर रही थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *