किसानो के समर्थन में उतरी सपा, वाराणसी सहित कानपुर कन्नौज, बांदा, हरदोई, औरैया, इटावा जनपद और आसपास के जनपदों में सपा नेता हुवे नज़रबंद

मो0 सलीम और ए जावेद (वाराणसी), मो0 कुमेल (कानपुर), जीशन अली (बांदा), यश कुमार (आगरा मंडल), ईदुल अमीन (डेस्क)

डेस्क। उत्तर प्रदेश के लगभग हर एक जनपद में सपा नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है। आज समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने यूपी में किसान बिल के विरोध में धरना दे रहे किसानों के समर्थन में आंदोलन करने की घोषणा के बाद ये कार्यवाही किया गया है, इस क्रम में आज वाराणसी, कानपुर, कन्नौज, बांदा, हरदोई, औरैया, इटावा सहित आसपास के जिलों में सपा नेताओं को नजरबंद किया गया है।

वाराणसी के विभिन्न थाना क्षेत्रो में कई सपा नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है। इस क्रम में हमारे लोहता क्षेत्र के संवाददाता की रिपोर्ट के अनुसार सपा के जिले में दिग्गज नेताओं में गिने जाने वाले प्रधान इम्तेयाज़ फारुकी को उनके आवास पर ही नज़रबंद कर दिया गया है। इस बात की जानकारी खुद इम्तेयाज़ फारुकी ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करके दिया है। वही चेतगंज थाना क्षेत्र के निवासी सपा नेता राजू यादव को भी उनके समर्थको सहित नज़रबंद किये जाने का समाचार मिल रहा है।

वाराणसी के दारानगर निवासी सपा के वरिष्ठ नेता किशन दीक्षित के आवास पर आज सुबह पुलिस ने दस्तक दिया। मगर किशन दीक्षित घर पर नही मिले। जानकारी प्राप्त हुई कि किशन दीक्षित किसी व्यक्तिगत कार्यक्रम के तहत शहर के बाहर है। सपा नेता इरशाद अहमद को भी सुबह आवास पर पुलिस ने नज़रबंद कर दिया है। इस दरमियान सपा युवजन सभा नेता मोहम्मद अजफर उर्फ़ गुड्डू मास्टर, अयान अहमद, मो अजहर और जावेद रफ़ी को भी स्थानीय पुलिस ने नज़रबंद किया। मगर इसी दौरान सपा नेता ने आशापुर से निकली किसानो के समर्थन में जुलूस के दौरान शिरकत किया।

इस दरमियान जो सपा नेता पुलिस की नज़रबंदी अभियान को चकमा दे सके वह सीधे आशापुर चौराहे पर इकठ्ठा हुवे और पुलिस से नोकझोक के बीच उनका जुलूस निकल पड़ा। इस दरमियान क्षेत्राधिकारी ने मौके पर पहुच कर मामले को ठंडा करने का प्रयास किया और जुलूस को रोकने का भी प्रयास किया। मगर जोश से भरे सपा नेता और कार्यकर्ता जुलूस लेकर आगे ही बढ़ते रहे। समाचार लिखे जाने तक जुलूस आगे बढ़ रहा था। पुलिस जुलूस को समाप्त करवाने का प्रयास कर रही थी।

कन्नौज

कन्नौज में मंडी स्थल पर जहां अखिलेश यादव को आना था वहां पर भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। मंडी स्थल के आसपास के इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है।

कानपुर

किसान आंदोलन से पहले पुलिस ने कानपुर के आर्यनगर से विधायक अमिताभ वाजपेई, बिठूर से पूर्व विधायक मुनींद्र शुक्ला समेत कई सपा नेताओं को पुलिस ने घर में ही नजरबंद कर दिया। सोमवार सुबह 8 बजे ही पुलिस इनके घरों पर तैनात कर दी गई है। विधायक ने कहा कि पुलिस बाहर खड़ी है लेकिन कोई औपचारिक सूचना नहीं दी है।

वह अपने तय समय पर पार्टी की किसान यात्रा के लिए निकलेंगे। विधायक अमिताभ बाजपेई ने कहा है कि गंगा बैराज से प्रस्तावित किसान यात्रा तय समय पर निकलेगी। वह पहले से तय कार्यक्रमों के लिए घर से निकलेंगे। पुलिस को जो कार्रवाई करना हो करे। गिरफ्तार करेंगे तो जेल जाने को तैयार हैं। विधायक अरविंद सिंह यादव को कार्यकर्ताओं सहित आवास पर नजरबंद किया गया है। सांसद प्रोफेसर रामबक्स वर्मा को भी नजरबंद किया गया है।

बांदा

बांदा में सपा की किसान यात्रा निकलने से पहले ही जिला प्रशासन ने उसपर ब्रेक लगा दिया। सपा जिला अध्यक्ष विजय करन यादव को पुलिस ने घर मे ही नजरबंद कर दिया। उरई में किसानों के समर्थन में निकले 20-25 सपाइयों को पुलिस ने अंबेडकर चौराहे के पास से गिरफ्तार किया है।

बांदा में पुलिस ने किसान आंदोलन के चलते सपा का जिला कार्यालय खुलने नहीं दिया। कार्यालय खोलने की जिद पर अड़े सपा कार्यकर्ता गेट पर बैठकर नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने सभी को नजरबंद कर दिया है। वहीं जिले में अलग-अलग स्थानों से पकड़ कर सपा कार्यकर्ताओं को कहीं भेज दिया गया है। बड़े नेताओं को घरों में नजरबंद किया गया है।

इटावा

इटावा में किसान यात्रा निकालने जा रहे सपा जिलाध्यक्ष गोपाल यादव समेत कई सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने यात्रा को रोककर सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया और उन्हें पुलिस लाइन ले जाया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *