वाराणसी – सपाइयो ने निकाला जुलूस, हुई गिरफ़्तारी, जाने कौन कौन सपा नेता हुवे नज़रबंद, देखे सपाइयो के कार्यक्रम की तस्वीरे

ए जावेद

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के लगभग हर एक जनपद में सपा नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है। आज समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने यूपी में किसान बिल के विरोध में धरना दे रहे किसानों के समर्थन में आंदोलन करने की घोषणा के बाद ये कार्यवाही किया गया है, इस क्रम में आज वाराणसी, कानपुर, कन्नौज, बांदा, हरदोई, औरैया, इटावा सहित आसपास के जिलों में सपा नेताओं को नजरबंद किया गया है।

वाराणसी के विभिन्न थाना क्षेत्रो में कई सपा नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है। इस क्रम में हमारे लोहता क्षेत्र के संवाददाता की रिपोर्ट के अनुसार सपा के जिले में दिग्गज नेताओं में गिने जाने वाले प्रधान इम्तेयाज़ फारुकी को उनके आवास पर ही नज़रबंद कर दिया गया है। इस बात की जानकारी खुद इम्तेयाज़ फारुकी ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करके दिया है। वही चेतगंज थाना क्षेत्र के निवासी सपा नेता राजू यादव को भी उनके समर्थको सहित नज़रबंद किये जाने का समाचार मिल रहा है।

वाराणसी के दारानगर निवासी सपा के वरिष्ठ नेता किशन दीक्षित के आवास पर आज सुबह पुलिस ने दस्तक दिया। मगर किशन दीक्षित घर पर नही मिले। जानकारी प्राप्त हुई कि किशन दीक्षित किसी व्यक्तिगत कार्यक्रम के तहत शहर के बाहर है। सपा नेता इरशाद अहमद को भी सुबह आवास पर पुलिस ने नज़रबंद कर दिया है। इस दरमियान सपा युवजन सभा नेता मोहम्मद अजफर उर्फ़ गुड्डू मास्टर को भी स्थानीय पुलिस ने नज़रबंद किया। वही पठानी टोला निवासी सपा कार्यकर्ता जावेद रफ़ी, अयान अहमद और मो अजहर भी नज़रबंद हुवे थे। मगर इसी दौरान ये सभी सपा नेता एक छोटी टोली बना कर आशापुर पहुचे और प्रदर्शन में शिरकत किया।

इस दरमियान जो सपा नेता पुलिस की नज़रबंदी अभियान को चकमा दे सके वह सीधे आशापुर चौराहे पर इकठ्ठा हुवे और पुलिस से नोकझोक के बीच उनका जुलूस निकल पड़ा। इस दरमियान क्षेत्राधिकारी ने मौके पर पहुच कर मामले को ठंडा करने का प्रयास किया और जुलूस को रोकने का भी प्रयास किया। मगर जोश से भरे सपा नेता और कार्यकर्ता जुलूस लेकर आगे ही बढ़ते रहे। पुलिस जुलूस को समाप्त करवाने का प्रयास कर रही थी।

इस दरमियान पंचकोशी चौराहे पर आगे न बढ़ने देने से सपा कार्यकर्ता सपा नेता विष्णु शर्मा के नेतृत्व में धरने पर बैठ गए। जिसके बाद सपाइयो की पुलिस ने गिरफ़्तारी कर लिया। इस दरमियान लखनऊ से सपा मुखिया अखिलेश यादव के गिरफ़्तारी का समाचार आते ही शहर में सपाइयो के जोश में एक और उबाल आ गया। जिसके बाद जिला मुख्यालत पर अखिलेश यादव के गिरफ्तारी के विरोध में सपा जनों ने ओमप्रकाश सिंह के नेतृत्व में जमकर नारेबाजी किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *