विधायक सीपू हत्याकांड में गवाह पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की पुलिस चौकी के पास हुई हत्या, दो अन्य घायल, गैंगवार में हत्या की आशंका

आदिल अहमद

लखनऊ। लखनऊ के अमन पसंद सरज़मीन पर आज फिर से लहू के खुद की होली खेली है। इस बार मामला गैंगवार जैसा लगता है। विधायक सीपू हत्याकांड में मुख्य गवाह और पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की पुलिस चौकी के सामने गोली मार कर हत्या कर दिया। घटना रात 8 बजे के लगभग की है।

अजीत सिंह के साए की तरह रहने वाले मोहर सिंह के पाँव में गोली लगी है। वही वारदात के समय मौके पर गुज़र रहे एक फ़ूड डिलेवरी बॉय के भी गोली लगी है जिसका एक निजी चिकित्सालय में इलाज चल रहा है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वारदात में अजीत सिंह की ओर से भी गोलियां चली थीं। चौराहे पर 25 से 30 राउंड फायरिंग से लोगों में दहशत का माहौल है।

घटना के समबन्ध में प्राप्त समाचारों के अनुसार लखनऊ के विभूतिखंड स्थित भीड़ भरे कठौता चौराहे पर रात लगभग 8 बजे घटना को अंजाम दिया गया। उनके परिचित मोहर सिंह के पैर में गोली लगी है। वहीं, उधर से गुजर रहा फूड डिलीवरी बॉय भी घायल हो गया। घटना की सूचना पर पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर समेत अन्य अधिकारी घटनास्थल पहुंच गए और लाश को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया गया है।

अजीत सिंह का गैंग मऊ जिले में रजिस्टर्ड है, इसका मेन शूटर मोहर सिंह है। मुख्तार अंसारी गैंग के सहयोगी गैंग के रूप में रजिस्टर्ड है यह गैंग। अजीत सिंह के पास से दो पिस्टल भी बरामद हुई हैं जिनसे कई राउंड फायर किये गए। गोली मारने आये बदमाशों में से एक अजीत की गोली से घायल हुआ है। अजीत को आठ से दस गोलियां मारे जाने की बात कह रही है पुलिस।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि अजीत सिंह गोमतीनगर विस्तार स्थित राप्ती अपार्टमेंट में रहते थे। रात करीब आठ बजे वह मोहर सिंह के साथ किसी काम से चौराहे के पास स्थित उर्वी कॉम्प्लेक्स आए थे। दोनों के एसयूवी से उतरते ही पहले से घात लगाए तीन बदमाशों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं। फायरिंग से भगदड़ व चीख-पुकार मच गई। अजीत लहूलुहान होकर सड़क पर गिर पड़े।

मोहर सिंह शोर मचाते हुए बदमाशों के पीछे भागा, लेकिन तब तक वे बाइक से भाग चुके थे। सड़क पर हुई फायरिंग में जोमेटो-स्विगी के डिलीवरी बॉय आकाश को भी गोली लगी। उसे निजी अस्पताल ले जाया गया। पुलिस आयुक्त ने बताया कि आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकलवाई जा रही है। वारदात के पीछे पुरानी रंजिश को वजह मानते हुए मऊ व आजमगढ़ पुलिस से संपर्क किया गया है। अजीत के साथी से भी पुलिस पूछताछ कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *