पत्रकार आशु यादव हत्याकांड – मफलर से नही रस्सी से घोटा गया था गला, मुख्य आरोपियों को अभी तक नही पकड़ पाई है पुलिस

मो0 कुमैल

कानपुर. कानपुर के पत्रकार आशु यादव हत्याकांड में पुलिस ने नया खुलासा किया है। पत्रकार आशू यादव की हत्या रस्सी से गला कसकर किया गया था। जबकि शुरू में पुलिस ने मफलर से गला कसकर हत्या की बात कही थी। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर रस्सी बरामद भी कर ली है। दोपहर बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों किशन और सचिन को जेल भेज दिया।

इन लोगों ने शव ठिकाने लगाने में आरोपियों का साथ दिया था। हालांकि मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर दीपिका और अमित का अभी सुराग नहीं लगा है। रेल बाजार इंस्पेक्टर दधिबल तिवारी ने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों को मंगलवार को दीपिका के किराये के कमरे में पहुंचे। यहां से रस्सी बरामद की। आरोपियों ने बताया कि आशू का रस्सी से ही गला कसा गया था।

अमित व दीपिका की आखिरी लोकेशन गंगा बैराज पर मिली थी। उसके आगे पुलिस सीसीटीवी फुटेज ट्रेस नहीं कर सकी। पुलिस को आशंका है कि आरोपी शुक्लागंज या उन्नाव में छिपे हैं। लखनऊ जाने के आशंका के चलते भी टोल प्लाजा के फुटेज मंगलवार को खंगाले गए। एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि आरोपियों की तलाश में सर्विलांस समेत तीन टीमों को लगाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *