बदायु सामूहिक दुष्कर्म प्रकरण – पुजारी अभी भी है फरार, दो गिरफ्तार, इस्पेक्टर हुवे सस्पेंड

तारिक खान

बदायूं. जिले के उघैती इलाके में तीन जनवरी की रात धर्मस्थल में दरिंदगी के बाद महिला की हत्या के मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मुख्य आरोपी पुजारी फरार है। एसएसपी ने उस पर 25 हजार रुपये इनाम घोषित किया है। इस मामले में लापरवाही सामने आने पर एसएसपी ने उघैती इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया है। वहीं एडीजी अविनाश चंद्र ने डीएम-एसएसपी के साथ गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की और आरोपियों पर कार्रवाई के साथ रासुका लगाने का आश्वासन दिया।

गौरतलब हो कि तीन जनवरी की रात उघैती इलाके के एक धर्मस्थल में 45 वर्षीय महिला की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। शुरुआत में पुलिस इसे हादसा बनाने की कोशिश करती रही, लेकिन मंगलवार शाम आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने जब महिला के साथ हुई हैवानियत उजागर की तो पुलिस के होश उड़ गए। पुलिस ने घटना के तीसरे दिन धर्मस्थल के पुजारी सत्यनारायण दास और उसके सहयोगी वेदराम व यशपाल के खिलाफ दुष्कर्म और हत्या की धारा में रिपोर्ट दर्ज की। मंगलवार रात पुलिस ने ताबड़तोड़ दबिश देकर आरोपी वेदराम और यशपाल को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन पुजारी सत्यनारायण हाथ नहीं आया।

एसएसपी ने उसकी तलाश में चार टीमें लगाई हैं। साथ ही उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। मामले में उघैती इंस्पेक्टर राघवेंद्र प्रताप सिंह की लापरवाही सामने आने पर एसएसपी ने उसे निलंबित कर दिया है।  बुधवार दोपहर एडीजी अविनाश चंद्र, डीएम कुमार प्रशांत और एसएसपी संकल्प शर्मा महिला के घर पहुंचे। उन्होंने परिवार वालों के आश्वासन दिया कि इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।  आरोपियों पर रासुका लगाने के साथ ही मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाएगा। परिवार वालों को रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत दस लाख रुपये, बीमा के 70 हजार, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ और दो बेटियों को कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *