किसान आन्दोलन – आज निकलेगी ट्रैक्टर परेड, जाने क्या होगा इस परेड का रूट

आदिल अहमद

नई दिल्ली। नई दिल्ली में किसान आन्दोलन के दरमियान आज गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड आखिर सभी जद्दोजेहद के बाद निकलेगी। कृषि कानूनों के विरोध में निकलने वाली इस ट्रैक्टर परेड के लिए रूट प्लान तय हो गया है। कुल मिलाकर पांच जगह से निकलने वाली यह परेड करीब 370 किलोमीटर की होगी। जिसमे सबसे लम्बी ट्रैक्टर परेड टिकारी से निकलेगी हो लगभग 110 किलोमीटर लम्बी होगी।

इस संबध में जारी रूट प्लान के अनुसार टीकरी से सबसे लंबी 110 किमी तो सिंघु बॉर्डर से करीब 90 किमी। की परेड निकाली जाएगी। जिन जगहों से ट्रैक्टर परेड शुरू होगी, उन्हीं जगहों पर वापस खत्म होगी। टीकरी बॉर्डर से परेड शुरू होकर दिल्ली के नांगलोई से वाया नजफगढ़, ढांसा बार्डर, बादली के रास्ते केएमपी से वापस टीकरी बॉर्डर पर आएगी। यह रूट करीब 110 किलोमीटर का रहेगा और इसमें से 90 किलोमीटर के करीब दिल्ली में परेड होगी।

सिंघु बॉर्डर से परेड शुरू होकर दिल्ली-करनाल बाईपास के पास से संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में प्रवेश करेगी। यहां से बवाना कस्बा, कंझावला, कुतुबगढ़ कस्बा होते हुए औचंदी बार्डर से हरियाणा के सैदपुर गांव में प्रवेश करेगी। इसके बाद पिपली टोल से केएमपी से होते हुए वापस सिंघु बार्डर पर पहुंचेगी। यह रूट भी 90 किलोमीटर लंबा रहेगा।

गाजीपुर उत्तर प्रदेश धरनास्थल से अप्सरा बॉर्डर दिल्ली, आनंद विहार बस अड्डा होते हुए गाजियाबाद होते हुए डासना बार्डर से किसान केजीपी के जरिये गाजीपुर वापसी करेंगे। यह रूट 70 किमी के करीब रहेगा।  पलवल से किसान फरीदाबाद होते हुए बदरपुर बार्डर से दिल्ली में प्रवेश करेंगे और सरिता विहार के गोल चक्कर से एनएच-2 से वापस पलवल जाएंगे। यह रूट 80 किमी के करीब का रहेगा। शाहजहांपुर बार्डर से परेड शुरू होकर केएमपी के ऊपर से वापस जाएगी और यह करीब 20 किमी का रूट होगा।

इस ट्रैक्टर परेड में युवाओं से विशेष तौर पर शांति बनाए रखने की अपील की गई है और इसके लिए हिदायतें भी जारी कर दी गई हैं। किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने बताया कि पुलिस के साथ कई दौर की बैठक के बाद रूट तय कर दिया गया है। किसानों का प्रयास है कि किसी भी सूरत में परेड में कोई शरारती तत्व शामिल नहीं हो सके, ताकि सरकार को किसानों के इस आंदोलन को बदनाम करने का मौका न मिले। उन्होंने बताया कि जिन जगहों पर धरना चल रहा है, वहां से परेड शुरू होगी और उनके लिए अलग-अलग रूट होंगे। परेड का समय 10 बजे सुबह का रखा गया है। इसके बाद जितनी देर तक सभी ट्रैक्टर वापस नहीं आते हैं, परेड जारी रहेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *