सोता वाराणसी का आबकारी विभाग, और देर रात इस देसी शराब की दूकान पर “खुल जा सिमसिम” की तरह बिकती शराब

तारिक़ आज़मी

वाराणसी। आबकारी विभाग को वैसे तो कोई बड़ी कार्यवाही करते अमूमन देखा नहीं जाता है। अपने ही धुन में मस्त विभाग को इसकी भी चिंता नही रहती है कि शहर की लगभग हर एक दूकान पर कथित तौर पर ओवररेटिंग हो रही है। अब हालात कुछ इस तरीके से होते जा रहे है कि देर रात भी खुल जा सिमसिम की तरह से दूकान बंद कर अन्दर से शराब की बिक्री जारी रहती है।

मामला कबीरचौरा-पियरी मार्ग पर स्थित देसी शराब की दूकान का है। आबकारी विभाग इस सर्द अँधेरी रातो में खुद के नर्म मुलायम बिस्तर पर आराम करता है। वही यहाँ का दुकानदार और सेल्समैंन खुल जा सिमसिम के तर्ज पर शराब की बिक्री देर रात तक किया करते है। दूकान के पल्ले बंद करके अन्दर से सप्लाई के लिए एक विशेष दरवाज़े के नीचे से जगह बना रखा है। बस आपको थोडा दाम से अधिक सिक्के देने है और नीचे से खुल जा सिमसिम की तरह शराब बाहर आ जाती है।

भले आपने बचपन में अलीबाबा की कहानी में पढ़ा होगा कि खुलजा सिमसिम कहने से एक गुफा का तिलिस्मी दरवाज़ा खुल जाता था जहा पर काफी हीरे जवाहरात थे। अली बाबा वहा जाता और खुलजा सिमसिम कहकर अन्दर से लूट का माल हीरे जवाहरात लेकर आता। मगर ये फार्मूला खुल जा सिमसिम का इस देसी शराब की दूकान पर भी लागू हो चूका है। समाचार के साथ अटैच वीडियो आज 12 जनवरी 2021 के रात्रि 10:17 का बना हुआ है। जब नियमो के अनुसार सभी शराब की दुकाने बंद हो जाती है और शराब नही बिल सकती है। आप खुद वीडियो में देख सकते है कैसे शराब के शौक़ीन इस दूकान के बाहर से बंद दरवाज़े के नीचे से अपने आर्डर की सप्लाई ले रहे है।

इसको कहते है शायद सीना जोरी। दो थानों के मिलन की जगह होने की वजह से ये दूकानदार और इसका सेल्समैन जमकर मलाई काटता है। दूकान का दरवाज़ा देखने को बंद हो जाता है और अन्दर बैठ कर घंटो तक हिसाब के मिलान के बहाने ये खुल जा सिमसिम का खेल रोज़ ही चलता रहता है। आबकारी विभाग इस मामले में आँखे बंद किये रहता है। सूत्रों की माने तो यहाँ इस दरमियान तो बड़ी ओवररेटिंग होती है। वैसे भी दिन भर ओवररेटिंग हुआ करती है। ऐसा नही है कि ये कहानी सिर्फ एक दूकान की है। बल्कि शहर के हर एक शराब की दूकान पर कमो बेस यही स्थिति है। आज तक आबकारी विभाग के द्वारा कभी बड़ी कार्यवाही के सम्बन्ध में कोई ख़ास जानकारी तो हासिल हुई नही है। इससे इनके हौसले और भी बढे हुवे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *