अजीत हत्याकाण्ड – देखती रह गई पुलिस और बंधन सिंह ने किया कोर्ट में सरेंडर

संजय ठाकुर

आजमगढ़. मीडिया कई दिनों से इस बात को कह रही थी कि बंधन सिंह कभी भी अदालत में सरेंडर कर सकता है. अब मामला इतने बड़े अपराध से जुडा हुआ है तो फिर पुलिस को भी प्रकरण में बंधन सिंह की गिरफ़्तारी एक लिए गंभीर प्रयास करने चाहिए था. मगर मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शायद ये बात स्थानीय प्रशासन को नही मालूम थी और बंधन सिंह बहुत ही आसानी से अदालत में किसी पुराने मामले में अपनी जमानत तुडवा कर जेल चला गया है. वही पुलिस गिरफ़्तारी के लिए अपना प्रयास जारी रखे हुवे थी.

गौरतलब हो कि लखनऊ के विभूतिखंड इलाके में हुए अजीत सिंह हत्याकांड में आरोपी शूटर 25 हजार के इनामी बंधन सिंह ने गुरुवार दोपहर बाद आजमगढ़ न्यायालय के कोर्ट नंबर छह में सरेंडर कर दिया। बताया जा रहा है कि किसी पुराने मामले में जमान तुड़वा कर उसने सरेंडर किया गया है। मजे की बात ये है कि एक दिन पहले ही बंधन के सरेंडर की तैयारी की सूचना मीडिया में आ चुकी थी, लेकिन पुलिस उसे पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई। विभूतिखंड के कठौता चौराहे पर अजीत सिंह की हत्या के मामले में आजमगढ़ के दो शूटर अंकुर और बंधन का नाम सामने आया था। पुलिस और एसटीएफ की टीमें शूटरों की तलाश में यूपी के साथ ही मुंबई और अन्य प्रदेशों में खाक छान रही थीं।

पकड़ में नहीं आने पर लखनऊ पुलिस ने दोनों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। दोनों आरोपी शूटर आजमगढ़ से हैं। अजीत सिंह हत्याकांड में आजमगढ़ निवासी कुख्यात ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह और अखंड सिंह मुख्य आरोपी हैं।

पूछताछ और विवेचना में सामने आया था कि अजीत हत्याकांड की साजिश आजमगढ़ जेल में रची गई थी। इस साजिश में कुख्यात उधम सिंह भी शामिल था। उधम सिंह भी आजमगढ़ जेल में ही निरुद्ध है। बंधन सिंहपुत्र मानिकराज तरवां थाना क्षेत्र के कबूतरा का रहने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *