दिल्ली – खुद को इंटरनेशनल ह्यूमन राईट ऑर्गेनाइजेशन का लीगल एडवाइजर बताने वाला वकील अवैध वसूली में गिरफ्तार, वसूली के लिए बाउंसर भी रखे हुवे थे

आदिल अहमद

नई दिल्ली: ऐसे लोगो की देश में कमी नही है जो मानव अधिकार के लिए बिना किसी नफे नुक्सान अथवा स्वार्थ के दिलो जान से काम करते है। ऐसे लोगो की मेहनत का फल है कि आज मानवाधिकार सुरक्षित है। मगर मानवाधिकार के नाम का नाजायज़ फायदा उठाने वालो की भी कमी नही। मगर साथ ही साथ दुसरे तरफ मानवाधिकार के नाम का लाभ उठा का स्वहित साधने वालो की भी कमी नही है। ऐसे ही एक मामले का खुलासा दिल्ली पुलिस ने आज किया है। जिसमे खुद को इंटरनेशनल ह्युमन राईट ऑर्गेनाइजेशन का कानूनी सलाहकार बताने वाले एक अधिवक्ता को अवैध वसूली में उसके गैंग के 5 अन्य मेम्बरों के साथ गिरफ्तार किया है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि खुद को इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन का लीगल एडवाइजर बताकर शराब की दुकानों में नाबालिगों को शराब बेचने का आरोप लगाकर वसूली करने वाले एक गैंग को 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। गैंग का मास्टरमाइंड एक वकील है जिसने 25-25 हज़ार रुपए में दुकानदारों को धमकाने के लिए 2 बाउंसर भी रखे हुए थे। पूरा गैंग साकेत मॉल की एक लिकर शॉप से पकड़ा गया। दिल्ली पुलिस गिरफ्तार सभी के ऊपर कानूनी कार्यवाही कर रही है।

घटना के सम्बन्ध में दक्षिणी दिल्ली के डीसीपी अतुल ठाकुर के बताये मुताबिक, गुरूवार रात साकेत मॉल की एक लिकर शॉप के मालिक विनय कुमार सिंह ने बताया कि उनकी दुकान में कुछ लोग आए जो आरोप लगा रहे थे कि दुकान में 25 साल से कम उम्र के लोगों को शराब बेची जा रही है। वो अपने साथ एक शत्रुघ्न नाम के लड़के को ले आए थे जो कह रहा था कि उसकी उम्र 25 साल से कम है और उसने कुछ देर पहले ही शराब खरीदी है। वो जेजे एक्ट और एक्साइज एक्ट में कार्रवाई की धमकी भी दे रहे थे और लाइसेंस रद्द करने की बात कर रहे थे।

पुलिस मौके पर पहुंची तो दुकान में मैनेजर समेत कई लोग मिले। मैनेजर ने बताया कि ये लोग खुद को इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन से जुड़ा बता रहे हैं और 2 लाख रुपए की डिमांड कर रहे हैं। पुलिस ने पूछताछ की तो गैंग के लीडर कुमार शशांक ने बताया कि वो इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन में लीगल एडवाइजर है। उसके पास में 2 पीएसओ भी खड़े थे जिनमें एक के पास राइफल और एक के पास पिस्टल थी। पुलिस ने मौके से ही सभी को गिरफ्तार कर लिया। दुकान के मालिक ने आरोप लगाते हुवे बताया कि यही लड़के बुधवार को उसकी सैदुल्लाजब की शराब की दुकान में आए थे और ऐसे ही धमकाकर 10 लाख रुपए मांग रहे थे। बाद में 40 हज़ार रुपए देकर मामला निपटा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *