उफ़ ये ज़ुल्म – जिस 9 साल के मासूम को तलाश रहा था पूरा गाँव, तीन दिन से वह पड़ा था 80 फिट गहरे कुवे में, वजह जानकार सभी हुवे हैरान

यश कुमार

टूंडला। फिरोजाबाद जनपद स्थित टूंडला थाना क्षेत्र के ग्राम चुल्हवाली का रहने वाला बाबु उर्फ़ रोहित कुमार पिछले 7 फरवरी की शाम से लापता हो गया था। उसके परिजन ही नहीं पूरा गाव गायब हुवे महज़ 9 साल के बच्चे को तलाश रहे थे। मगर दूसरी तरफ रोहित कुमार उर्फ़ बाबु अपनी ज़िन्दगी और मौत की जंग भूखा प्यासा तीन दिनों तक 80 फिट गहरे कुवे में लड़ रहा था। आज बुद्धवार की सुबह उस कुवे के तरफ से गुज़र रहे ग्रामीणों को किसी बच्चे के रोने की आवाज़ सुनाई दी। आवाज़ पर लोगो ने अन्दर झांक कर देखा तो बाबु कुवे के अन्दर रो रहा था।

आनन फानन में इसकी जानकारी पुरे गाव में जंगल की आग के तरह फ़ैल गई। चंद लम्हों में ही पूरा गाँव इस कुवे के तरफ दौड़ पड़ा और देखते ही देखते सभी वहा इकठ्ठा हो गए। सभी अपने भरसक कोशिश कर रहे थे कि बालक को बाहर निकाला जाए। इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को हुई तो तुरंत ही सुचना पर पुलिस बल भी मौके पर पहुच गया। 80 फिट गहरे कुवे में रोहित पिछले तीन दिन से पड़ा था। इतने गहरे कुवे से रोहित को निकालना आसन काम नही था।

आखिर ग्रामीणों ने मदद किया और एक सिपाही ने अपनी जान की बाज़ी लगा कर कुवे में कूद मार दिया। बालक को अपनी कमर पर लटका कर ग्रामीणों के मदद से रस्से के सहारे वह कुवे से बाहर आया। कुवे से बाहर आने के बाद जो कुछ रोहित ने बताया उससे सभी के होश उड़ गए। रोहित ने बताया कि उसको गाव के ही एक युवक ने कुवे में धकेल दिया था। जबकि पूरा गाव रोहित की तलाश कर रहा था। पुलिस भी रोहित की तलाश में लगी थी। परिजनों ने पोस्टर तक चिपकवा डाले थे।

रोहित के बयान के बाद पुलिस ने गाव के दो युवको को हिरासत में ले लिया है। वही रोहित को स्थानीय एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है जहा वह स्वास्थ्य लाभ ले रहा है। एक मासूम तीन दिनों तक अपनी मौत से 80 फिट गहरे कुवे में लड़ता रहा। शायद इसी को कहते है कि “जाको राखे साईया, मार सके न कोय, बाल न बाका कर सके, जो जग बैरी होय।” कुवे में धक्का देने वाले ने तो सोचा होगा कि बच्चा गहरे कुवे में अपनी जान से हाथ धो बैठेगा मगर उसको शायद ये नही मालूम था कि ईश्वर को ये मंज़ूर नही है। और रोहित सकुशल तीन दिन बाद कुवे से बाहर निकल आया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *