गाजीपुर में सिपाही मर्डर केस – आनर किलिंग का निकला मामला, बाप ने खुद अपनी बेटी की हत्या करके सिपाही को सर में मार दिया था गोली

शहनवाज़ अहमद

गाजीपुर। जिले में सोमवार को घायल मिले पुलिसकर्मी की इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिसकर्मी अमेठी जिले के थाने में तैनात था। अपनी चचेरी बहन की शादी के लिए वह अमेठी से छुट्टी लेकर गाव आया था। उसको क्या मालूम था कि ये सफ़र उसकी ज़िन्दगी का भी आखरी सफ़र बन जायेगा। उसे घायल अवस्था में रामपुर गाव के पास पाया गया था। वाराणसी में इलाज के दरमियान उसकी मौत हो गई। सिपाही अजय के सर में गोली लगी थी। जब पुलिस मामले के तह तक पहुची तो उसने एक नही बल्कि दो हत्याओं का खुलासा कर दिया। दोनों हत्याए आनर किलिंग में की गई थी।

घटना के जब गहराई में पुलिस गई तो हर एक शख्स के हकीकत जान कर होश उड़ गए। खुद की झूठी शान के खातिर एक बाप ने ही न सिर्फ अपनी बेटी का सुहाग उजाड़ा था। बल्कि जिस बाप ने बेटी के पैदा होने पर ख़ुशी मनाई होगी उसी ने खुद के हाथो से उसी बेटी को मौत के घाट उतार दिया। यही नही बेटी की हत्या करने के बाद उसके शव को दफना भी दिया था और पुलिस को गुमराह करने के लिए अपनी बेटी की गुमशुदगी दर्ज करवा दिया था।

आज इलेक्ट्रानिक ईविड़ेंस के साथ जब पुलिस हत्यारोपी के घर पहुची तो वहा उसको मृतक सिपाही की चप्पल बरामद हुई। जब सख्ती से पूछताछ किया गया तो मामला कुछ इस तरफ खुला कि लोगो के होश उड़ गए। झूठी शान के खातिर आखिर एक बाप ने अपनी बेटी और उसके प्रेमी की हत्या कर दिया था। यही नही उसने अपनी बेटी का शव दफना दिया और सिपाही को मृत समझ कर लेजाकर उसे रामपुर के पास सड़क पर फेक दिया।

पुलिस के अनुसार, गाजीपुर जिले के खानपुर थाना क्षेत्र के बभनौली गांव निवासी पुलिसकर्मी अजय यादव की अमेठी के गौरीगंज थाने पर तैनाती थी। अजय का अपने गांव के पड़ोस के ही गांव की युवती से कई वर्षों से प्रेम-संबंध चल रहा था। दोनों ने वर्ष 2018 में कोर्ट मैरिज कर ली थी।

बभनौली गांव निवासी अजय सिंह यादव और ईचवल निवासी सोनाली सिंह बचपन से ही एक दूसरे को पसंद करते थे। हाईस्कूल की पढ़ाई के दौरान दोनों का प्रेम संबंध इस कदर बढ़ा कि साथ-साथ रहने की और एक-दूजे के लिए जीने-मरने की कसमें खाया करते थे। जब दोनों अपने प्रौढ़ावस्था में आए तो अजय पुलिस महकमे में सिपाही के पद पर भर्ती हो गया। इसके बाद दोनों ने परिजनों को बिना बताए कोर्ट मैरिज कर ली। इधर, जब सोनाली सिंह के परिवार को कोर्ट मैरिज की जानकारी मिली तो उन्होंने इस शादी को स्वीकार करने से मना कर दिया।

अपनी चचेरी बहन की सगाई पर छुट्टी लेकर अमेठी से आए अजय को सोमवार की भोर में सोनाली से फोन करवाकर परिजनों ने घर बुलाया। इसके बाद सोनाली एवं अजय की परिजनों ने जमकर पिटाई की। बाद में सोनाली के पिता राजेश सिंह ने उसके सिर में गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। बाद में अजय की कनपटी में गोली मारकर रामपुर गांव के पास फेंक आए।  इधर, हत्यारे पिता ने परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर घर के पास गेहूं के खेत में पुत्री के शव को दफना दिया। पूछताछ के बाद हत्यारोपी पिता की निशानदेही पर पुत्री के शव को पुलिस ने बरामद कर पूरे हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में जुट गई। पुलिस टीम ने मृतक पुलिसकर्मी के स्मार्ट फोन से छानबीन के बाद  खेत में दफन किए गए युवती के शव को भी बरामद कर लिया। साथ ही हत्यारोपी पिता को हिरासत में लेकर छानबीन शुरू कर दी।

पुलिस को गुमराह करने के लिए दर्ज करवाई गुमशुदगी

इचवल गांव निवासी सोनाली सिंह के पिता ने सैदपुर के किसी साइबर कैफे से 22 फरवरी को सोनाली की गुमशुदगी का ऑनलाइन मुकदमा दर्ज कराया था। उसकी ओर से ऐसा पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए किया गया था, लेकिन दांव उल्टा हो गया और इसके चलते पुलिस का शक और गहरा हो गया था।

पुलिस टीम ने उसके दो साथियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। उनसे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने इचवल गांव में एक मकान पर छापा मारकर पुलिस ने छह लोगों को उठाया तो मामला खुल गया।  मालूम हुआ कि पहले परिजनों ने युवती के फोन से काल करके सिपाही को घर बुलाया था। इसके बाद परिवार के सदस्यों ने दोनों की जमकर पिटाई करने के बाद गोली मार दी। सोनाली की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि अजय को घायल हालत में रामपुर गांव के पास फेंक दिया। पुलिस ने हिरासत में लिए गए लोगों की निशानदेही पर युवती का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

एसपी सिटी गोपीनाथ सोनी ने बताया कि पुलिसकर्मी एवं युवती ने दो साल पहले कोर्ट मैरिज कर ली थी। सुबह में पिता ने युवती के फोन से पुलिसकर्मी को घर बुलाया। इसके बाद हत्यारोपी पिता ने पहले पुत्री को गोली मारकर हत्या करके शव ठिकाने लगा दिया। इसके बाद अजय को कनपटी में गोली मारकर रामपुर गांव के सामने फेंक दिया था। आरोपी को पकड़कर छानबीन की जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *