बाबा वीरेंद्र देव के बचाव मे उतरी आध्यत्मिक शिक्षिका बी.के. रागिनी, बोली – जल्द ही सच सबके सामने होगा

रॉबिन कपूर

फर्रूखाबाद : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की अध्यात्मिक शिक्षिका वीके रागिनी ने विश्वविद्यालय के फरार संचालक बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित का बचाव करते हुये कहा है कि बाबा विश्व का परिवर्तन के कार्य में लगे है। दिल्ली से यहा आयी अध्यात्मिक शिक्षिका वीके रागिनी ने नगर के मोहल्ला सिकत्तरबाग स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में मीडिया कर्मियों को विश्वविद्यालय के बारे में हो रही चर्चाओं को मात्र भ्रांतियों बताया और उस पर जमकर सफाई दी।

उन्होने बताया कि देश में 200 से अधिक संस्थाये वर्तमान मे संचालित है। जहां साप्ताहिक कोर्स के जरिये लोगों को अध्यात्मिक ज्ञान देकर आत्मा परमात्मा एवं दुख के निवारण आदि के बारे में जानकारी दी जाती है। उन्होने चर्चित बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित का बचाव करते हुये कहा कि सच्चाई सबके सामने आ जायेगी। बाबा विश्व का परिवर्तन करने के कार्य में लगे है। अब शांति का माहौल होने के कारण मीडिया को सच्चाई बताई जा रही है। उन्होने कहा कि हमारे यहां आश्रम में माताये एवं कन्याये सुरक्षित है। जब कि आम रास्तों पर वह सुरक्षित नही है।

उन्होंने कहा कि हम लोग स्व-इच्छा से सहयोग करने वालों की धनराशि से केन्द्र चलाते है और सादा जीवन व्यतीत करते है। उन्होने सरकार से बाबा वीरेन्द्र देव दीक्षित के विरूद्ध दर्ज मुकदमे को वापस लिये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम किसी से भीख नही मांगते। हम हिन्दुस्तान अथवा भारत में रहने के कारण हिन्दू नही मानते, हम सनातनी है। देश सनातन धर्म की परम्पराओं को भूलता जा रहा है।

एक सवाल के जबाब में अध्यात्मिक शिक्षिका वीके रागिनी ने बताया कि समय आने पर बाबा वीरेन्द्र देव सभी के सामने आ जायेगे। उनकी उम्र करीब 80 वर्ष है। मालुम हो कि केन्द्र के संचालक बाबा वीरेन्द्र देव के विरूद्ध युवतियों के अपहरण आदि के अनेकों मुकदमे चल रहे है। इन मामलों की जांच सीबीआई कर रही है। बाबा इस दरमियान पुलिस पकड़ से बाहर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *