मंच पर बैठने को लेकर सपा जिलाध्यक्ष व महान दल नेताओ मे तीखी नोकझोंक

रॉबिन कपूर

फर्रुखाबाद : सपा और महानदल के गठबंधन के बाद दोनों ही पार्टियां यूपी में आगामी 2022 विधानसभा चुनाव में सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव के नेत्रत्व में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने के लिये प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में सपा और महानदल मिलकर सयुंक्त रैलियां की गयी। लेकिन इसी बीच फर्रुखाबाद शहर के एक गेस्ट हाउस में चल रहे दोनों दलों के संयुक्त सम्मेलन में  मंच पर बैठने को लेकर सपा जिलाध्यक्ष व महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य के बीच तीखी नोकझोंक हो गयी । जिससे खफा महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य अपना संक्षिप्त भाषण देकर कार्यक्रम को बीच में ही छोड़कर अपने दल के सभी कार्यकर्ताओं के साथ चले गये।

आज जिले मे समाजवादी पार्टी और महान दल की संयुक्त रैली का आयोजन किया गया। कस्बा नबावगंज से चलकर फर्रुखाबाद शहर स्थित एक गेस्ट हाउस में हुआ। जहां दोनों पार्टी के सभी पदाधिकारीगण मंच पर विराजमान हो रहे थे। तभी सपा जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फार्रुखी ने महान दल के प्रदेश महासचिव पर आखें तरेरते हुए उनको मंच से उतर जाने को कहा। जिसको लेकर महान दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य खफा हो गये और उनके दुव्र्यवहार पर प्रश्न चिन्ह लगाने लगे।

उन्होने कहा कि ‘‘सपा जिलाध्यक्ष किसी गलतफहमी में ना रहें, हमारा गठबंधन समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ है,उनके साथ नहीं’’ यह रैली महानदल के तत्वाधान में निकाली गई है। मुझे मुख्य अतिथि के रुप में बुलाया गया। महानदल के जिन पदाधिकारियों ने गलती की मैने उनको ड़ाटा। लेकिन समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष नदीम अहमद फार्रुखी को यह कतई शोभा नही देता कि महानदल के प्रदेश महासचिव को डंाट लगायें। अगर मैं न होता तो आप कुछ भी कर लेते सब ठीक था। लेकिन आप तो हमारे सामने ही हमारे कार्यकर्ताओं का अपमान कर रहे हैं जिसे हम किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे। और यह कहकर वह मंच से उठकर चल दिये, तब समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता एंव पूर्व मंत्री नरेंन्द्र सिंह यादव ने खुद माईक सम्भाला और उनसे मंच पर आकर बैठने को कहा तब कहीं जाकर वह मंच पर पुनः बैठे।

अपना दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव देव मौर्य ने अपने संक्षिप्त भाषण में कहा कि महानदल से समाजवादी पार्टी का गठबंधन है और रहेगा। अखिलेश यादव को विधानसभा चुनाव 2022 में मुख्यमंत्री बनाने का महानदल ने सकंल्प लिया है। महानदल के सारे कार्यकर्ता दिन रात मेहनत कर अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनायेगें। अपना संक्षिप्त भाषण देने के बाद वह कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर अपने सभी कार्यकर्ताओं के साथ चले गये।

उधर पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत की नाराजगी के बाद उन्हें मंच पर बैठा दिया गया। वहीं सचिन सिंह यादव खुद मंच से नीचे उतर कर महान दल के प्रदेश अध्यक्ष शिव कुमार यादव, सपा नेता विवेक यादव, जितेन्द्र सिंह यादव (सिरोली), यशवीर आर्य आदि के साथ नीचे फर्श पर बैठ गये। वहीं सपा जिलाध्यक्ष का कहना है कि पूर्व विधायक उर्मिला राजपूत का अपमान किया गया। जिसके बदले उन्होनें महान दल के कार्यकर्ताओं को मंच से नीचे उतरने के लिए कह दिया। इतनी सी बात हुई। कार्यक्रम सकुशल सम्पन्न हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *