गाजीपुर – 9 साल बाद आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया, पुलिस पर गोली चलाने वाला प्रमोद खरवार

ए जावेद

गाजीपुर। अपराधियों को लगता है कि वह अपराध करके बच गए तो बचे रहेगे। उनको शायद मालूम नही होता है कि कानून के लम्बे हाथ अपराध को गिरफ्त में लेने के लिए ही बने है। शायद प्रमोद को भी लगा था कि पुलिस पर गोली चलाने के बाद वह अब बच गया है। फरार चल रहे प्रमोद को आखिर 9 साल बाद उस प्रकरण में सोमवार की रात जौनपुर जिले के चंदवक थाना क्षेत्र स्थित बीरीबारी गांव से गिरफ्तार किया

घटना के सम्बन्ध में आपको याद दिलाते चले कि वर्ष 2013 में तत्कालीन थानाध्यक्ष केके पांडेय पुलिस टीम के साथ लूट के करीब पांच ट्रक, एक इंडिको बरामद करने के लिए मेदिनीपुर चट्टी पर मौजूद थे। इस दौरान लुटेरों ने पुलिस पर फायर झोंका था। लेकिन पुलिस टीम ने घेराबंदी कर बदमाशों को लूट के ट्रकों समेत दबोचने में कामयाब हो गई थी। जबकि मुख्य आरोपी जौनपुर के चंदवक थाना के बीरीबारी निवासी प्रमोद खरवार फरार चल रहा था।

इसके बाद न्यायालय ने मुख्य आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। इसके बावजूद भी मुख्य आरोपी पुलिस पकड़ से बाहर था। कल यानी सोमवार को जब रात के स्याह घुप अँधेरे अपने आगोश में मंगलवार की मंगलकामनाओ के साथ लेने को बेताब थे तभी पुलिस ने देर रात उसे चंदवक थाना के बीरीबारी गांव में दबिश देकर गिरफ्तार किया। प्रभारी थानाध्यक्ष राजेश कुमार गिरी ने बताया कि फरार मुख्य आरोपी गिरफ्तार हो गया है। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में ओमवीर सिंह, रोहित सिंह, दिलीप, मोहन तिवारी आदि शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *