इलाहबाद यूनिवर्सिटी की कुलपति द्वारा अज़ान को लेकर की गई शिकायत पर बोले शिया धर्म गुरु मौलाना सैफ अब्बास – “ऐसे में तो सुबह होने वाले कीर्तन भी गलत है”

तारिक खान

प्रयागराज. इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव द्वारा सुबह की अजान की शिकायत जिलाधिकारी से करने के मामले में अब प्रतिक्रियाओं का दौर भी शुरू हो गया है। शिया धर्मगुरु मौलाना सैफ अब्बास ने कुलपति द्वारा की गई शिकायत पर कहा कि ऐसे में तो सुबह होने वाली कीर्तन भी गलत है। उन्होंने कहा कि कुलपति को अपनी शिकायत वापस लेनी चाहिए।

मौलाना सैफ अब्बास ने कहा कि अजान दो से तीन मिनट की होती है। ज्यादा से ज्यादा पांच मिनट। अगर उन्होंने सुबह की आरती और कीर्तन को लेकर भी शिकायत की होती तो मसला समझ में आता, लेकिन सिर्फ अजान को लेकर शिकायत पत्र देना ठीक नहीं है। वह भी एक यूनिवर्सिटी में उच्च पद पर बैठे अधिकारी द्वारा। मेरी गुजारिश है कि वह अपनी शिकायत वापस ले लें।

सुन्नी धर्मगुरु मौलाना सुफियान निजामी ने कहा कि मस्जिदों में अजान होती है तो मंदिरों में आरती भी होती है। जिस शहर से कुलपति आती हैं, वहां बड़ा कुंभ होता है। पूरे महीने लाउडस्पीकर की आवाजें उठती हैं। सड़कें भी बंद होती हैं, लेकिन किसी भी मुसलमान ने कोई चिट्ठी नहीं लिखी। कांवर यात्रा निकलती है। होली का मौका होता है तो सड़कें भी बंद होती हैं। लाउडस्पीकर भी बजते हैं, लेकिन किसी भी मुसलमान ने कोई चिट्ठी नहीं लिखी और न ही आपत्ति की। मुझे लगता है कि यह सोची समझी साजिश का हिस्सा है जो नहीं होना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *